Connect with us

प्रादेशिक

जेल से बाहर नहीं आ सकेगा राम रहीम, ये बड़ी वजह आई सामने

Published

on

नई दिल्ली। साध्वी के साथ यौन शोषण और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के उम्रकैद की सजा काट रहा गुरमीत राम रहीम पैरोल पर जेल से बाहर नहीं आ सकेगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राम रहीम ने खुद ही अपने पैरोल की अर्जी वापस ले ली है। सिरसा के एसपी अरुण सिंह ने खुद इस बात कि पुष्टि की है।

उन्होंने बताया कि राम रहीम ने खुद ही अपने पैरोल की अर्जी वापस ले ली है। हालांकि पैरोल वापस लेने के पीछे की क्या वजह है फिलहाल इस बात का खुलासा नहीं हो सका है। कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चौतरफा विरोध के बाद अर्जी वापस लेने का फैसला लिया गया है।

आपको बता दें कि पैरोल मांगने का मामला सामने आने के बाद से प्रदेश की राजनीति गर्मा गई थी। राज्य सरकार की मंशा पर भी सवाल उठ रहे थे।

छत्रपति के परिवार सहित अन्य सामाजिक संगठन और कई वकील तक राम रहीम को पैरोल देने का विरोध कर रहे थे। बता दें कि सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम ने 18 जून को कृषि कार्य के लिए पैरोल मांगी थी।

प्रादेशिक

स्मार्ट सिटी परियोजना के लिए सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उठाया ये बड़ा कदम

Published

on

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को सचिवालय में स्मार्ट सिटी परियोजना के अन्तर्गत हरिद्वार रोड, देहरादून स्थित उत्तराखण्ड के परिवहन निगम के वर्कशॉप परिसर में इंटीग्रेटेड ग्रीन बिल्डंग स्थापित किए जाने के सम्बन्ध में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक व परिवहन मंत्री यशपाल आर्य के साथ अधिकारियों की बैठक ली है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत लोगों को सरकारी सुविधाएं एक ही स्थान पर मिल सके इसके लिए परिवहन निगम के वर्कशॉप परिसर में इंटीग्रेटेड ग्रीन बिल्डंग स्थापित की जाएगी। यह एक तरह का डिस्ट्रिक सचिवालय होगा।

इस परिसर में कलक्ट्रेट, विकास भवन, परिवहन निगम के मुख्यालय सहित कुल 25 विभागों के कार्यालय स्थापित किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने परिवहन निगम की इस भूमि की प्रतिपूर्ति के लिए मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में एक समिति बनाने के निर्देश दिए। समिति एक प्रस्ताव बनाकर मुख्यमंत्री को सौंपेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending