Connect with us

प्रादेशिक

परिजनों का दावा, तबरेज़ अंसारी को हत्या से पहले पिलाया गया था ज़हर

Published

on

रांची। झारखंड में बाइक चोरी के शक में पीट-पीट कर मार डाले गए तबरेज़ अंसारी के परिजनों का कहना है कि उसे जहरीला पानी पिलाया गया था। तबरेज़ अंसारी के रिश्तेदार मुहम्मद मसूर ने बताया, ‘तबरेज के साथ मारपीट के बाद उसे ‘धतूरा’ मिला हुआ पानी दिया गया था।’ साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले कि चार्टशीट तुरंत फाइल होनी चाहिए और निष्पक्ष तौर पर जांच भी होनी चाहिए। उन्होंने इस हत्याकांड के लिए आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग भी की है। इस मामले में मुख्य आरोपी संग 11 अन्य लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और उनसे पूछताछ का दौरा शुरू हो गया है। वहीँ, इस मामले में लापरवाही बरतने के लिए 2 पुलिसकर्मियों को भी निलंबित किया जा चुका है।

झारखंड राज्य अल्पसंख्यक आयोग की तीन सदस्यीय टीम ने मंगलवार को तबरेज़ के गांव का दौरा किया। उन्होंने बतायाम कि टीम के सभी सदस्यों ने मृतक के गांव का पूरा दौरा किया, घटना स्थल का पूर्ण मुआयना किया और तबरेज़ के परिजनों से बात चीत करके सारी जानकारी एकत्र की है। उन्होंने बताया कि इस तरह की घटनाओं को रोकने और पुर्नावृत्त्ति को रोकने के लिए झारखंड पुलिस सभी जरुरी उपाय करेगी।

आपको बता दें कि 17 जून को झारखण्ड के सरायकेला खरसावां जिले में तबरेज़ अंसारी को भीड़ ने बाइक चोरी के शक में घेर लिया फिर उसकी बड़ी बेरहमी से पिटाई की। भीड़ ने 17 जून की रात से तबरेज़ को प्रताड़ित करना शुरू किया 18 जून की सुबह तक उसे मारते रहे। मौजूदा लोगों ने उससे ‘जयश्री राम’ और ‘जय हनुमान’ के नारे लगवाये। नारे लगवाने और पीटने के बाद भी उन्हें उस पर रहम नहीं आया और उन लोगों उसपर चाक़ू से कई दफा वार किया। सुबह जब पुलिस वहां पहुंची तब उसे हस्पताल ले जाया गया जहाँ 22 जून को उसने दम तोड़ दिया। डॉक्टर्स के मुताबिक उसकी मृत्यु शरीर पर लगे ज़ख्मों की वजह से हुई है। इस हत्या काण्ड के बाद पुरे देश में गुस्से का माहौल है और निर्भया जैसे आंदोलन की मांग की जा रही है।

प्रादेशिक

राहुल गांधी के बयान पर भड़की शिवसेना, दे डाली ये नसीहत

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान से राहुल गांधी द्वारा सावरकर पर दिए बयान पर अब शिवसेना और कांग्रेस पार्टी के बीच तलवारें खिचती नजर आ रही हैं।

भारत बचाओ रैली के दौरान राहुल गांधी ने सावरकर की दुहाई देते हुए कहा था कि वे ‘रेप इन इंडिया’ वाले अपने बयान पर माफी नहीं मांगेगे क्योंकि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है।

इस बयान से शिवसेना तिलमिला गई है। इसके बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी राहुल गांधी पर पलटवार कर दिया। संजय राउत ने कहा, राहुल का बयान बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है और सावरकर का बलिदान समझने के लिए राहुल को कांग्रेस नेता कुछ किताबें गिफ्ट करें।

संजय राउत ने मराठी में कहा, “हम पंडित नेहरू, महात्मा गांधी को भी मानते हैं, आप वीर सावरकर का अपमान ना करें, बुद्धिमान लोगों को ज्यादा बताने की जरूरत नहीं होती।”

दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि अगर आज भी आप वीर सावरकर का नाम लेते हैं तो देश के युवा उत्तेजित और उद्वेलित हो जाते हैं, आज भी सावरकार देश के नायक हैं और आगे भी नायक बने रहेंगे, वीर सावरकर हमारे देश का गर्व हैं।”

बता दें कि राहुल का इशारा हिंदूवादी नेता विनायक दामोदर सावरकर की ओर से 14 नवंबर, 1913 को ब्रिटिश सरकार को कथित रूप से लिखे गए माफीनामे की तरफ था, जिसे उन्होंने अंडमान की सेलुलर जेल में कैद रहने के दौरान लिखा था।

रेप पर दिए गए बयान को लेकर बीजेपी की ओर से माफी की मांग पर राहुल ने शनिवार को कहा था कि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं है, राहुल गांधी है और वे मर जाएंगे पर कभी माफी नहीं मांगेंगे।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending