Connect with us

नेशनल

दिल्ली में 15 दिनों के लिए कैद हुए 100 से ज्यादा सरकारी कर्मचारी, जानिए वजह

Published

on

नई दिल्ली हलवा पार्टी के बाद शनिवार को आम बजट से जुड़े कागजात की छपाई शुरू हो गई। नॉर्थ ब्लॉक स्थित वित्त मंत्रालय के बेसमेंट छपाई के शुरू होते ही 100 अधिकारी और कर्मचारी अगले 15 दिनों के लिए कैद हो गए हैं।

इस बार की हलवा सेरेमनी पिछली बार से कुछ अलग नजर आई। अरुण जेटली की जगह इस बार नई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सभी कर्मचारियों के साथ हलवा खाकर बजट की छपाई की शुरूआत की।

आने वाली 5 जुलाई को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट पेश करना है। ऐसे में लगभग 100 कर्मचारियों को बाहर जाने की अनुमति नहीं मिलेगी।

ऐसा इसलिए है क्योंकि बजट सत्र एक बहुत ही गोपनीय मामला है और इन कर्मचारियों को पूरी दुनिया के साथ 10 दिनों तक संपर्क बंद रखना पड़ता है।

बजट के दौरान वित्त मंत्रालय में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी होती है। किसी भी बाहरी व्यक्ति को वित्त मंत्रालय में प्रवेश नहीं दिया जाता है।

मुद्रण अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने सहयोगियों के साथ बाहर निकलने या मिलने की अनुमति नहीं है। यदि किसी को मंत्रालयों का दौरा करना बहुत महत्वपूर्ण है, तो उसे सुरक्षा गार्ड के साथ अंदर भर्ती कराया जाता है।

नेशनल

नक्शा फाड़े जाने पर हिंदू महासभा ने की राजीव धवन के खिलाफ बार काउंसिल में शिकायत

Published

on

नई दिल्ली। अयोध्या जमीन विवाद केस की सुनवाई के अंतिम दिन कुछ ऐसा हो गया कि मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन सुर्खियों में आ गए।

बुधवार को सुनवाई के 40वें दिन हिंदू महासभा के वकील द्वारा एक नक्शा पेश किए जाने के बाद राजीव धवन ने उसे फाड़ दिया। जिसके बाद हिंदू महासभा ने इसकी शिकायत बार काउंसिल ऑफ इंडिया में की है।

हिंदू महासभा ने बार काउंसिल के सामने मामले का संज्ञान लेते हुए राजीव धवन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को जब हिंदू महासभा के वकील ने किताब और एक नक्शा पेश किया, तो राजीव धवन भड़क गए थे। उन्होंने तब उस नक्शे को फाड़ दिया और पांच टुकड़े कर दिए।

हालांकि, बाद में जब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में चर्चा हुई तो राजीव धवन ने कहा कि उन्होंने नक्शा चीफ जस्टिस के कहने पर फाड़ा था।

दरअसल, जब हिंदू महासभा के वकील उस पर्चे को दिखा रहे थे तब राजीव धवन ने वह नक्शा छीन लिया और कहा कि वह इस पर जवाब नहीं देंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने उनसे कहा कि आप चाहे तो इसे फाड़ दें, तभी राजीव धवन ने नक्शे को फाड़ दिया।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending