Connect with us

खेल-कूद

सरफराज अहमद के मामा चाहते हैं पाकिस्तान को बुरी तरह हराए भारत, ये है बड़ी वजह

Published

on

नई दिल्ली। इंग्लैंड में चल रहे आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में अब तक का सबसे बड़ा मुकाबला होने जा रहा है। यहां रविवार को भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मैच पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी हैं।

इस बीच पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद के मामा का बड़ा बयान आया है। सरफराज के मामा चाहते हैं कि इस मुकाबले में भारत को जीत मिले।

जी हां आपने बिल्कुल सुना, मैच से पहले सरफराज के मामा महबूब हसन ने भारत का समर्थन करते हुए टीम इंडिया की जीत की दुआ की है।

महबूब हसन ने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि भारत पाकिस्तान के खिलाफ मैच जीते। मैं यह इच्छा भी रखता हूं कि मेरा भांजा कल यानी रविवार को होने वाले मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन करे, ताकि वह उसकी (पाक) टीम का कप्तान बना रहे।’

आप सोच रहे होगें की सरफराज के मामा ऐसा क्यों कह रहे हैं तो बता दें कि सरफराज के मामा उत्तर प्रदेश के इटावा में रहते हैं। उनका मानना है कि देश पहले है रिश्ते बाद में हैं।

सरफराज के दादा हाजी वकील अहमद मूल रूप से उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के रहने वाले थे। आजादी के बाद पहले ग्राम पंचायत चुनाव में उनके दादा ने जीत हासिल की थी और प्रधान बने थे।

हालांकि, सरफराज की मां अपनी शादी के बाद कराची चली गई थीं। पाकिस्तान जाने के बाद भी वह अभी तक अपने भाई से फोन और स्काइप के जरिए बातचीत करती हैं।

सरफराज भी अबतक कई बार अपने मामा से मिलने उनके घर आ चुके हैं। दोनों की आखिरी बार मुलाकात चंडीगढ़ में 2016 टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान हुई थी।

खेल-कूद

अब बिरयानी के लिए तरसेंगे पाकिस्तान के खिलाड़ी, जानिए वजह

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान के नए कोच मिस्बाह-उल-हक ने कोच बनते ही खिलाड़ियों के बिरयानी और मिठाई खाने पर बैन लगा दिया है। मिस्बाह ने ऐसा खिलाड़ियों के फिटनेस ठीक करने के लिए किया है।

आपको बता दें कि वर्ल्ड कप भारत से हार का सामना करने के बाद पाकिस्तान के समर्थकों ने खिलाड़ियों के फिटनेस को लेकर सवाल उठाए थे।

पाकिस्तान के कप्तान सरफराज भारत से हारने के बाद पाकिस्तान की जनता के निशाने पर आ गए थे। उनकी फिटनेस को लेकर जनता ने उन्हें खूब ट्रोल किया था।

रिपोर्ट के अनुसार, मिस्बाह ने राष्ट्रीय कैम्प और घरेलू टूर्नामेंट में खिलाड़ियों की डाइट में बदलाव करने की मांग की है ताकि टीम में नया फिटेनस कल्र्चर लाया जाए। उन्होंने खिलाड़ियों को बिरयानी और मिठाइयां खाने से मना किया है।

पाकिस्तान के पत्रकार साज सद्दीक ने ट्वीट किया, “खबरों के अनुसार, मिस्बाह-उल-हक ने घरेलू टूनार्मेट और राष्ट्रीय कैम्प में खिलाड़ियों के लिए आहार और पोषण की योजना को बदल दिया है। अब खिलाड़ियों के लिए बिरयानी या मिठाइयां नहीं होगीं।”

मिस्बाह और वकार यूनिस के मार्गदर्शन में अपनी पहली सीरीज में पाकिस्तान का सामना श्रीलंका से होगा। पाकिस्तान अपने घर में श्रीलंका के खिलाफ 27 सितंबर से नौ अक्टूबर के बीच तीन वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending