Connect with us

नेशनल

पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश, फौरन रिहा करे योगी सरकार

Published

on

नई दिल्ली। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर उच्चतम न्यायालय ने सख्त टिप्पणी करते हुए उन्हें तुरंत रिहा करने के आदेश दिए हैं।

मंगलवार को प्रशांत की पत्नी द्वारा उनकी गिरफ्तारी के खिलाफ दायर की गई याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि एक नागरिक के अधिकारों का हनन नहीं किया जा सकता है, उसे बचाए रखना जरूरी है।

कोर्ट ने कहा है कि आपत्तिजनक पोस्ट पर विचार अलग-अलग हो सकते हैं लेकिन गिरफ्तारी क्यों ? साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत कनौजिया की पत्नी को मामले को हाईकोर्ट ले जाने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान IPC की धारा 505 के तहत इस मामले में एफआईआर दर्ज करने पर भी सवाल खड़े किए। अदालत ने यूपी सरकार से पूछा है कि किन धाराओं के तहत ये गिरफ्तारी की गई है। ऐसा शेयर करना सही नहीं था लेकिन फिर गिरफ्तारी क्यों हुई है।

आपको बता दें कि शनिवार की सुबह प्रशांत को सीएम योगी के खिलाफ सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिल्ली में उनके आवास से गिरफ्तार किया था। इसके खिलाफ प्रशांत की पत्नी जिगीषा ने सुप्रीम कोर्ट में हैबियस कॉरपस यानी बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दाखिल की थी।

याचिका में कहा गया है कि प्रशांत की गिरफ्तारी गैरकानूनी है। याचिका के मुताबिक यूपी पुलिस ने इस संबंध में ना तो किसी एफआईआर के बारे में जानकारी दी है ना ही गिरफ्तारी के लिए कोई गाइडलाइन का पालन किया गया है। इसके अलावा ना ही उन्हें दिल्ली में ट्रांजिट रिमांड के लिए किसी मजिस्ट्रेट के पास पेश किया गया।

नेशनल

क्लर्क और ड्राइवर को बीच रास्ते में उतारकर गायब हो गए चिदंबरम, मोबाइल किया बंद

Published

on

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई और पूर्व गृहमंत्री पी. चिदंबरम के बीच लुका छुपी अभी भी जारी है। दिल्ली हाइ कोर्ट में अग्रीम जमानत याचिका खारिज होने के बाद चिदंबरम पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है।

सीबीआई और ईडी की टीम लगातार चिदंबरम की तलाश कर रही है लेकिन चिदंबरम कहां है ये अब तक पता नहीं चल सका है। इस बीच चिदंबरम को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है।

सूत्रों के मुताबिक, कल शाम से चिदंबरम गायब हैं। गायब होने से पहले उन्होंने अपने ड्राइवर और क्लर्क को बीच रास्ते में उतार दिया था। इसके बाद अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया, जो अभी तक चालू नहीं हुआ है।

मंगलवार से अब तक पी. चिदंबरम को तलाश रही जांच एजेंसियों ने सभी करीबियों के घर की तलाशी ली. दिल्ली-एनसीआर के एक दर्जन से अधिक जगहों पर छापेमारी की गई, लेकिन अभी तक चिदंबरम को जांच एजेंसियां तलाश नहीं पाई हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending