Connect with us

ऑफ़बीट

अभी चेक करें अपने किचन में रखे गैस सिलेंडर का कोड, वरना हो सकता है बड़ा हादसा

Published

on

नई दिल्ली। भारत में गैस सिलेंडर फटने से अबतक हजारों जाने जा चुकी हैं। ज्यादातर मामलों में उपभोक्ताओं को ही इन हादसों का जिम्मेदार माना जाता है।

लेकिन हर बार गलती उपभोक्ता की नहीं होती कई बार गैस सिलेंडर बेच रही कंपनियों की वजह से भी ऐसे खतरनाक हादसे हो जाते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी कि गैस सिलेंडर की भी एक्सपायरी डेट होती है जो कंपनियां अक्सर नजरअंदाज करती हैं। ऐसे में उपभोक्ताओं के ये जानना बहुत जरूरी है कि उनके किचन में रखा गैस सिलेंडर कहीं एक्सपायर तो नहीं हो गया है?

यहां लिखी होती है एक्सपायरी डेट

एलपीजी गैस सिलेंडर के सबसे उपरी भाग जहां रेगुलेटर लगाया जाता है वहां एक पीले या सफेद रंग की पट्टी बनी होती है जिसपर अंग्रेजी के अक्षर A,B,C,D के साथ कुछ अंक लिखे होते हैं।

ये A,B,C,D कुछ और नहीं बल्कि तीन-तीन महीनों ग्रुप होते हैं। अंग्रेजी के ये अक्षर एलपीजी सिलेंडर के एक्सपायर होने के महीने को प्रदर्शित करतें हैं। यहां समझें-

A का मतलब मार्च 
B का मतलब जून
C का मतलब सितंबर
D का मतलब दिसंबर 

सिलेंडर पर लिखे अंक का मतलब

अंग्रेजी के इन अक्षरों के आगे अंक लिखे होते हैं। ये अंक एक्पायर होने के साल की जानकारी देते हैं। मतलब यदि किसी सिलेंडर की पट्टी पर D-20 लिखा है तो इसका मतलब वह सिलेंडर दिसंबर 2020 तक उपयोग करने के लायक है। इसके बाद इस सिलेंडर का उपयोग करना घातक हो सकता है।

अन्तर्राष्ट्रीय

धार्मिक काम छोड़कर पादरी बन गया पोर्न स्टार, उम्र जानकर सिर पीट लेंगे आप

Published

on

नई दिल्ली। पादरी का काम छोड़ने के बाद एक शख्स पोर्न फिल्मों का हीरो बन गया। हैरान करने वाली बात ये है कि शख्स ने 85 साल की उम्र में पोर्न इंडस्ट्री में करियर बनाने का फैसला किया है।

शख्स का नाम नोर्म है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नोर्म गे हैं। उन्होंने बताया कि उनका परिवार धर्म में काफी रुझान रखता था जिसकी वजह से 18 साल की उम्र से ही वे चर्च में काम करने लगे थे।

पादरी से रिटायर्ड होने के बाद उन्होंने एडल्ट फिल्में बनानी शुरू कीं। इन दो वर्षों में उनकी 4 एडल्ट फिल्में आ चुकी हैं। इस बारे में वे कहते हैं कि इस बात की उन्हें परवाह नहीं है कि एडल्ट फिल्में बनाने के बाद कई दोस्त उनसे दूरी बना लेंगे।

नोर्म सेल्फ कहते हैं कि ये 1997 की बात है। वे एक ऐसे लोगों के समूह से मिले जो गे थे, इसी दौरान उन्हें भी अहसास हुआ कि वे गे हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending