Connect with us

खेल-कूद

धोनी ने मानी आईसीसी की बात, बिना बलिदान ग्लव्स के मैदान में उतरे

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकटे टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिहं धोनी और आईसीसी के बीच ग्लव्स को लेकर कुछ समय पहले से चल रहा विवाद रविवार को आखिरकार खत्म हो गया।

वर्ल्ड कप में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे मैच से पहले सबकी निगाहें इस बात पर टिकी थी कि मैच में धोनी बलिदान ग्लव्स पहनते हैं या नहीं।

352 रनों का विशाल स्कोर खड़ा करने के बाद जब टीम इंडिया मैदान पर फील्डिंग करने उतरी तो सबकी नजर धोनी के हाथों पर थी। सबके मन में एक ही सवाल था कि क्या धोनी आईसीसी की बात मानेंगे या फिर बलिदान बैज के साथ ये मैच भी खेलेंगे, लेकिन धोनी ने विवाद खत्म करते हुए आईसीसी की बात मान ली और बिना बैज वाले ग्लव्स पहनकर विकेटकीपिंग करने उतरे।

गौरतलब है कि 6 जून को साउथ अफ्रीका के साथ खेले गए मुकाबले में धोनी के ग्लव्स ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं। हर कोई धोनी के बैज को देखकर उनका कायल हो गया था।

लेकिन आईसीसी के मुताबिक किसी भी तरह के निशान वाले ग्लव्स या जर्सी का प्रयोग करना नियम का उल्लघंन है जिसकी वजह से धोनी अपने ग्लव्स ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए मैच में नहीं पहन सके।

खेल-कूद

श्रीसंत से आजीवन प्रतिबंधन हटा, इस दिन से खेल सकेंगे क्रिकेट

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने क्रिकेटर एस. श्रीसंत को बड़ी राहत दी है। बीसीसीआई ने श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को हटकर उनकी सजा 7 साल कर दी है।

इसी के साथ 13 सितंबर 2020 को श्रीसंत पर लगा बैन खत्म हो जाएगा। बीसीसीआई की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि श्रीसंत पर लगे प्रतिबंध को घटाकर सात साल करने का फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने पर श्रीसंत पर बीसीसीआई ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। 13 सितंबर 2013 को बोर्ड द्वारा आजीवन बैन लगाया था।

इससे पहले मार्च 2019 को श्रीसंत पर सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बीसीसीआई श्रीसंत पर अपने लगाए प्रतिबंध पर फिर से विचार करे. लाइफटाइम बैन ज्यादा है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending