Connect with us

प्रादेशिक

6.5 करोड़ साल बाद गुजरात में फिर दिखे डायनासोर, देखने के लिए उमड़ी भीड़

Published

on

अहमदाबाद। डायनासोर के अस्तित्व मिटने के 6.5 करोड़ साल बाद एक बार फिर ये विशाल प्राणी गुजरात में दिखने लगे हैं। चौंक गए न? बात चौंकने वाली जरूर है लेकिन सौ फीसदी सही है।

दरअसल, गुजरात के खेड़ा जिले में स्थित रैयोली गांव में 128 एकड़ में बना देश का पहला डायनासोर जीवाश्म पार्क शनिवार से जनता के खोल दिया गया। ये भारत का पहला और दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा डायनासोर जीवाश्म पार्क है।

पार्क में डायनासोर के 6.5 करोड़ साल के इतिहास को बताने वाला पहला म्यूजियम भी बनाया गया है। इसमें 10 आधुनिक गैलरी भी बनाई गई हैं, जहां डायनासोर के रहने खाने से जुड़ी अहम जानकारियां लोगों को दी जाएंगी।

म्यूजियम की टाइम मशीन में दुनिया और गुजरात के अलग-अलग डायनासोर के अवशेषों को दिखाया जाएगा। डायनासोर के अलावा पार्क में 5डी थिएटर और थ्रीडी फिल्म देखने की सुविधा मिलेगी। आम लोगों के लिए ये पार्क सुबह 9 से शाम 6 बजे तक खुला रहेगा।

आपको बता दें कि 36 साल पहले इसी जगह से डायनासोर के जीवाश्म मिले थे। जानकारों का मानना है कि रैयोली गांव में डायनासोर की करीब 7 प्रजातियां रहती थीं। यहां 36 साल पहले डायनासोर के 10 हजार अंडों के अवशेष पाए गए थे।

यह दुनिया का सबसे सुरक्षित स्थान है, जहां इतनी बड़ी मात्रा में अंडों के अवशेष मिले थे। इसे दुनिया में डायनासोर का तीसरा सबसे बड़ा जीवाश्म स्थल भी माना जाता है।

 

प्रादेशिक

हैदराबाद गैंगरेप केसः जानिए कौन हैं वीसी सज्जनार, जिनकी लोग कर रहे हैं तारीफ

Published

on

नई दिल्ली। हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप के चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकांउटर में मार गिराया है। शुक्रवार को जैसे ही यह खबर आई लोगों ने इसपर खुशी जताई।

एनकांउटर के बाद लोगों का कहना है कि पीड़िता और उसके परिवार के लिए इससे बढ़िया इंसाफ और कुछ नहीं हो सकता। यही नहीं घटनास्थल पर पहुंचे लोग पुलिस पर फूल बरसाते भी दिखे।

इस एनकाउंटर के बाद हर तरफ साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार की जमकर तारीफ हो रही है। आईए जानते हैं कौन हैं वीसी सज्जनार…

हैदराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में पहचाने जाते हैं। पुलिस अधिकारी वीसी सज्जनार को महिला के खिलाफ अपराध करने वालों से सख्ती से निपटने के रूप में पहचाना जाता है।

तेलगाना के वारंगल में 2008 के जब एक कॉलेज की लड़की पर एसिड अटैक हुआ था तब उस मामले के 3 आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था। उस पूरे ऑपरेशन में सीपी सज्जनार की मुख्य भूमिका थी और सीपी सज्जनार वारंगल के पुलिस मुखिया थे।

वारंगल केस में भी आरोपियों को ठीक इस घटना के तरह क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए ले जाया जा रहा था। इसके साथ ही हैदराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार कई नक्सली मुठभेड़ में भी शामिल रहे हैं।

इन्हीं के चलते पुलिस की इस केस पर खास नज़र थी। घटना के तुरंत बाद उन्होंने कहा था कि वो आरोपियों को तुरंत पकड़ लेंगे। और हुआ भी वही. करीब 60 घंटे के अंदर ही पुलिस ने आरोपियों को धर दबोचा। एक हफ्ते के बाद ही पुलिस ने इस घिनौने अपराध का अंत कर दिया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending