Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

टीएमसी और बीजेपी के बीच झंडे को लेकर चली गोलियां, 4 लोगों की मौत

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के बाद भी पश्चिम बंगाल में हिंसा समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार को 24 परगना जिले के नजत इलाके में भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं एकदूसरे से एक बार फिर भिड़ गए।

हिंसा में चार लोगों की मौत हो गई जबकि 3 घायल हैं। सूत्रों के मुताबिक दोनों पार्टियों में झंडे को लेकर कहासुनी शुरू हुई जो बाद में खूनी संघर्ष में बदल गई। हिंसा के बाद पुलिस ने स्थिति को काबू में रखने के लिए बड़ी संख्या में  पुलिस दल को घटनास्थल पर तैनात किया है।

भाजपा के सूत्रों ने दावा किया है कि संबंधित इलाके से पार्टी के झंडे हटाने पर हिंसा की शुरुआत हुई। भाजपा नेता सायंतन बसु ने बताया कि उनकी पार्टी के तीन कार्यकर्ता (सुकांता मंडल, प्रदीप मंडल और शंकर मंडल) की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई, जब वह टीएमसी कार्यकर्ताओं को भाजपा के झंडे हटाने से रोक रहे थे।

बसु ने बताया, “हमें अपने तीन कार्यकर्ताओं का शव मिला है। हमने सुना है कि दो और कार्यकर्ताओं की भी मौत हो गई है लेकिन अभी उनके शव नहीं मिले हैं। वो हमारी पार्टी के झंडे और पोस्टर हटाने की कोशिश कर रहे थे, जब हमने विरोध किया तो हमारे कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई।”

भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय का कहना है कि पार्टी इस घटना के बारे में केंद्रीय मंत्री अमित शाह को बताएगी। वहीं टीएमसी भी दावा कर रही है कि उसके एक समर्थक की मौत हो गई है।

24 परगना जिले के अध्यक्ष और मंत्री ज्योतिप्रियो मुल्लिक का कहना है कि उनकी “पार्टी के कार्यकर्ता कायुम मोल्लाह को भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने गोली मार दी है।”

अन्तर्राष्ट्रीय

ईरान ने ही मार गिराया था यूक्रेन का प्लेन

Published

on

नई दिल्ली। यूक्रेन का विमान जिसमें 176 लोग सवार थे उसे ईरान ने ही मार गिराया था। इराक में अमेरिकी ठिकानों पर मिसाइल अटैक के कुछ घंटे बाद बुधवार को एक बोइंग प्लेन ईरान में क्रैश कर गया था।

अब ईरान ने क्रैश को लेकर अपनी गलती स्वीकार कर ली है। विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी। एक ईरानी जनरल ने कहा है कि गलती से यूक्रेन के विमान को मार गिराया गया था।

इस विमान में 176 लोग सवार थे। ईरान ने इसे ‘मानवीय भूल’ कहा है। एक ईरानी जनरल ने कहा है कि गलती से यूक्रेन के विमान को मार गिराया गया था। इस विमान में 176 लोग सवार थे। ईरान ने इसे ‘मानवीय भूल’ कहा है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending