Connect with us

नेशनल

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने अपने दो पुलिस अफसर को क्यों मार गिराया? जानिए वजह

Published

on

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर पुलिस के दो स्पेशल पुलिस ऑफिसर (SPO) को गुरुवार को ढेर कर दिया गया। दोनों स्पेशल अफसर पुलिस की दो राइफल लेकर आतंकी बनने निकले थे।

लेकिन 24 घंटों के भीतर ही दोनों के मंसूबे नाकामयाब कर दिए गए और सुरक्षाबलों ने उन्हें मार गिराया। फिलहाल दोनों एसपीओ के नाम का खुलासा नहीं हुआ है।

दरअसल, गुरुवार शाम को जैसे ही दो SPO के फरार होने की सूचना मिली तो सुरक्षाबल चौकन्ने हो गए और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। 18 घंटे तक चले इस ऑपरेशन के बाद सुरक्षाबलों ने पुलवामा के लस्सीपोरा में 4 आतंकियों को ढेर कर दिया।

पूरी रात चले ऑपरेशन के बाद  शुक्रवार सुबह सुरक्षाबलों को कामयाबी मिली और सभी आतंकी मारे गए। ये सभी आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद के थे। ये पहली बार नहीं है जब पुलिस के SPO हथियार लेकर फरार हुए थे, लेकिन हर बार उनके मंसूबे फेल ही रहे. क्योंकि हर बार सुरक्षाबलों ने उनको मार गिराया।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के DGP दिलबाग सिंह ने भी बताया कि पुलिस के एसपीओ की तलाश में ही ऑपरेशन शुरू हुआ था, जब पता चला कि ये आतंकी बनने को गए हैं इसी के बाद ऑपरेशन चलाया गया और अब पूरा किया गया है।

नेशनल

कोरोना वैक्सीन को लेकर आई खुश कर देने वाली खबर

Published

on

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के मामले फिलहाल कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में सबकी नजरें अब कोरोना की वैक्सीन पर लगी है कि आखिर इसकी वैक्सीन कब आएगी। इस बीच कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक खुश करने वाली खबर सामने आई है।

डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज लिमिटेड को कोविड-19 के रूस में बने टीके स्पूतनिक वी के भारत में दूसरे और तीसरे चरण के ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल करने की मंजूरी मिल गई है। कंपनी की ओर से बताया गया है कि उसे और रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड को ड्रग कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया से यह मंजूरी मिली है। हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि यह एक नियंत्रित अध्ययन होगा, जिसे कई केंद्रों पर किया जाएगा।

कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह महामारी से निपटने के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी टीका लाने को प्रतिबद्ध है। वहीं रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड के अधिकारियों का कहना है कि भारत में होने वाले परीक्षण के साथ ही रूस में तीसरे चरण के परीक्षण के डेटा को साझा करेंगे। इससे भारत में स्पूतनिक वी के क्लिनिकल डेवलपमेंट में मदद मिलेगी।

Continue Reading

Trending