Connect with us

प्रादेशिक

पति का कटा सिर हाथ में लेकर थाने पहुंच गई महिला, हत्या की वजह बताई तो कांप गई पुलिस

Published

on

नई दिल्ली। असम के लखीमपुर जिले में एक रूह कंपा देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला अपने पति की हत्या करने के बाद उसका कटा सिर लेकर थाने पहुंच गई।

महिला के हाथ में पति का कटा सिर देखकर थाने में मौजूद पुलिसकर्मी भी कांप गए। पूछताछ में महिला ने हत्या का कारण बताया तो वहां मौजूद सभी के रोंगटे खड़े हो गए।

घटना मंगलवार रात की है। दरअसल, मजगांव की रहने वाली ये महिला एक प्लास्टिक के थैले के साथ धालपुर पुलिस चौकी पहुंची थी। इस थैले में उसके पति का कटा हुआ सिर था। आरोपी महिला गुनेश्वरी बरकाटकी (48) ने ये कबूल कर लिया है कि उसने ही अपने 55 वर्षीय पति मुधिराम की हत्या की है।

महिला ने स्थानीय टेलीवीजन चैनल को बताया कि उसका पति उसके साथ कई सालों से मारपीट कर रहा था। कई बार उसने उसे कुल्हाड़ी से भी घायल किया था।

महिला ने बताया कि उसने पहले कई बार पति को छोड़ने का सोचा, लेकिन बच्चों के कारण वो ऐसा नहीं कर पाई। आखिर में तंग आकर महिला ने उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद महिला पुलिस स्टेशन पहुंच गई और अपने जुर्म कबूलते हुए आत्मसमर्पण कर दिया।

प्रादेशिक

सीएम योगी ने मंत्रियों को बांटे मंत्रालय, खुद के पास रखे 37 विभाग

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रिमंडल विस्तार के बाद गुरुवार देर रात मंत्रियों को उनके विभाग आवंटित कर दिए। जानकारी के मुतबाकि सीएम योगी के अपने पास पास गृह व राजस्व सहित 37 विभाग रखे हैं।

इस बार मुख्यमंत्री ने विभागों का आवंटन बहुत सोच-समझकर किया है। जय प्रताप सिंह को स्वास्थ्य मंत्री बनाया गया है, जबकि अब तक इस विभाग को संभाल रहे सिद्घार्थनाथ सिंह को खादी मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

वहीं, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के पास लोक निर्माण, खाद्य प्रसंस्करण, मनोरंजन कर तथा सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय रहेंगे, जबकि उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के पास माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स तथा सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय रहेंगे।

केंद्र की तर्ज पर जल शक्ति विभाग का गठन किया गया है और यह महत्वपूर्ण विभाग डॉ. महेंद्र सिंह को सौंपा गया है। इसमें सिंचाई समेत जल से संबंधित सभी विभागों को शामिल किया गया है। वहीं, सुरेश राणा का गन्ना विकास विभाग उनके पास ही रखा गया है।

वित्त विभाग सुरेश खन्ना को सौंपा गया है, जबकि उनके नगर विकास को आशुतोष टंडन को दिया गया है। आशुतोष के पिता लालजी टंडन भी इस विभाग के मंत्री रह चुके हैं। सिद्घार्थनाथ सिंह और नंद्गोपाल गुप्ता नंदी के महत्वपूर्ण विभाग ले लिए गए हैं। चेतन चौहान से खेल मंत्रालय लेकर स्वतंत्र प्रभार के उपेंद्र तिवारी को दिया गया है।

इस बार मुख्यमंत्री ने कुछ राज्यमंत्रियों को विभाग न देकर अपने पास रखा है। दोनों उप मुख्यमंत्री के अलावा सूर्य प्रताप शाही, स्वामी प्रसाद मौर्य, सतीश महाना, रमापति शास्त्री और मुकुट बिहारी वर्मा के विभाग में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। इसके अलावा अनुपमा जायसवाल की जगह सतीश द्विवेदी को बेसिक शिक्षा का दायित्व दिया गया है।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने गुरुवार को गोरखपुर दौरे से वापस लौटने के बाद प्रस्तावित विभागों को मंजूरी दे दी। इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभागों को लेकर राज्यपाल से मंत्रणा की थी।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending