Connect with us

नेशनल

लगातार दूसरी बार पीएम बने नरेंद्र मोदी, अमित शाह-स्मृति ईरानी ने ली मंत्री पद की शपथ

Published

on

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बन गए हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। नरेंद्र मोदी के बाद राजनाथ सिंह, अमित शाह, नितिन गडकरी, सदानंद गौड़ा, रामविलास पासवान, स्मृति ईरानी, जयशंकर, पीयूष गोयल, प्रकाश जावड़ेकर, महेंद्र नाथ पांडेय, धर्मेंद्र प्रधान, मुख्तार अब्बास नकवी, प्रह्लाद जोशी, अरविंद सावंत, गिरिराज सिंह, डॉ हर्षवर्धन, नरेंद्र सिंह तोमर, हरसिमरत कौर बदल, अर्जुन मुंडा, रमेश पोखरियाल निशंक, निर्मला सीतारमण, रविशंकर प्रसाद, गजेंद्र सिंह शेखावत ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली।

इसके अलावा, संतोष गंगवार, राव इंद्रजीत सिंह, श्रीपद नाइक, डॉ जीतेन्द्र सिंह, किरन रिजिजू, राजकुमार सिंह, आरके सिंह, प्रह्लाद पटेल, हरदीप सिंह पुरी, मनसुख वसाया, फग्गन सिंह कुलस्ते, अर्जुन राम मेघवाल, कृष्णपाल गुर्जर, अश्विनी कुमार चौबे, जनरल वीके सिंह, प्रह्लाद पटेल, जी कृष्ण रेड्डी, पुरुषोत्तम रुपाला, रामदास अठावले, साध्वी निरंजन ज्योति, बाबुल सुप्रियो, डॉ संजीव बालियान, संजय धोत्रे, अनुराग ठाकुर, सुरेश अंगाडी, नित्यानंद राय, रतन लाल कटारिया, वी मुरलीधरन, रेणुका सरुता, कैलाश चौधरी, प्रताप सारंगी, देबाशी चौधरी ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली| शपथग्रहण को लेकर राष्ट्रपति भवन में ख़ास तैयारियां की गईं थीं। दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले आज सुबह नरेंद्र मोदी राजघाट और अटल समाधि पहुंचे। जहां उन्होंने महात्मा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी।

राष्ट्रपति भवन में होने वाले इस समारोह में छह हजार से ज्यादा मेहमानों का न्योता दिया गया है। जो लोग इस समारोह का हिस्सा होंगे, उसमें देश-विदेश की तमाम हस्तियां शामिल हैं। विपक्षी दल के बड़े नेता, सभी राज्यों के मुख्यमंत्री, सभी राज्यों के राज्यपाल, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, संसद में दोनों सदनों के सदस्य सहित तमाम लोगों को न्योता भेजा गया है। पूर्व में प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति रह चुके लोगों को भी आमंत्रित किया जा रहा है।

बता दें कि 2014 में जब मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी, तब उनके साथ 24 कैबिनेट और 21 राज्य मंत्री थे। उस वक्त हुए समारोह में करीब साढ़े तीन हजार मेहमानों को बुलाया गया था। इसमें सार्क देशों के प्रमुख (पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, नेपाल, भूटान और मालदीव) शामिल थे. अलग-अलग क्षेत्रों से लोग इसमें शामिल हुए थे। कला, संस्कृति, उद्योग, मीडिया और खेल के साथ फिल्म जगत की कई बड़ी हस्तियां पिछले समारोह का हिस्सा थीं।

नेशनल

जस्टिस बोबडे हो सकते हैं अगले मुख्य न्यायाधीश, सीजेआई ने पत्र लिखकर की सिफारिश

Published

on

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं ऐसे में नए चीफ जस्टिस की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

जस्टिस रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर उनके बाद जस्टिस एसए बोबडे को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश बनाने का सिफारिश की है।

यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों से सामने आई है। प्रक्रिया के अनुसार, वर्तमान सीजेआई ही अगले सीजेआई की सिफारिश करता है। आपको बता दें कि जस्टिस रंजन गोगोई के बाद जस्टिस बोबडे सुप्रीम कोर्ट में दूसरे वरिष्ठतम जज हैं।

अगर उनके नाम पर सहमति बन गई तो जस्टिस बोबडे 18 नवंबर को सीजेआई के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे। वे देश के 47वें मुख्य न्यायाधिश होंगे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending