Connect with us

प्रादेशिक

10 मिनट तक बाइक सवार चोर को दौड़ाती रही पुलिस, बचने के लिए रोड पर उड़ाए लाखों रुपए

Published

on

मुंबई। फिल्म ‘एक था टाइगर’ तो आपको याद ही होगी। इस फिल्म के शुरूआती सीन में दुश्मनों से बचने के लिए सलमान खान पैसे बीच रोड पर उड़ा देते हैं।

नोट उड़ता देख लोग पैसों पर टूट पड़ते हैं और सलमान वहां से बच निकलते हैं। रील लाइफ की ये अब घटना रीयल लाइफ में भी हुई है। मामला चेन्नई के कोट्टुरपुरम का है।

यहां सोमवार तड़के एक मॉल के मालिक के घर चोरी हुई। चोर करोड़ों रुपये कैश लेकर बाइक से भाग निकला। तभी लॉक स्ट्रीट पर पेट्रोलिंग कर रही पुलिस से उसका सामना हो गया।

इसके बाद चोर पुलिस से बचने के लिए चौराहे पर चक्कर काटने लगा। जब पुलिस को शक हुआ तो उन्होंने बाइक सवार का पीछा करना शुरू कर दिया। पुलिस को पीछे देख दस मिनट तक आरोपी फिल्मी स्टाइल में बाइक भगाता रहा।

बाद में जब चोर को लगा कि उसका बचना नामुमकिन है तो उसने बैग खोल 500 के दो बंडल निकालकर पैसे उड़ाने शुरू कर दिए। इसके बाद राहगीर और पुलिस का ध्यान पैसों पर चला गया और चोर वहां से फरार होने में कामयाब हो गया।

मिली जानकारी के मुताबिक चोर पुलिस के गिरफ्त से अभी भी बाहर है। इस मामले में पुलिस ने बताया कि अन्ना सलाई रोड पर बने स्पेन्सर्स प्लाजा मॉल के मालिक बाला सुब्रह्मण्यम के घर सोमवार सुबह चोरी हुई।

पुलिस के मुताबिक उन्होंने कुछ प्रॉपर्टी बेची थी और पैसे घर में रखे थे। पुलिस ने बताया कि अन्ना सलाई रोड पर बने स्पेन्सर्स प्लाजा मॉल के मालिक बाला सुब्रह्मण्यम के घर सोमवार सुबह चोरी हुई। पुलिस के मुताबिक उन्होंने कुछ प्रॉपर्टी बेची थी और पैसे घर में रखे थे।

प्रादेशिक

मैदान में फुटबॉल प्रैक्टिस करा रहा था कोच, अचानक गिरी बिजली, और फिर….

Published

on

रांची। झारखंड के धनबाद में एक फुटबॉल कोच की आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई। प्रैक्टिस के दौरान अचानक फुटबॉल कोच पर बिजली गिर गई जिससे वह बेहोश हो गए। आनन-फानन में उन्हें पीएमसीएच ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

एक प्रशिक्षु फुटबॉलर ने बताया कि कोच अभिजीत गांगुली उर्फ सोनू दा प्रैक्टिस करवा रहे थे। इसी बीच तेज आवाज के साथ आसमानी बिजली चमकी और सभी खिलाड़ी जमीन पर लेट गए। थोड़ी देर के लिए पूरे मैदान में अंधेरा छा गया। जब सभी उठे तो देखा कि कोच गिरे पड़े हुए थे, उनका पूरा शरीर झुलसा हुआ था।

संजय ने बताया कि हादसे के बाद हम तुरंत उन्हें उठाकर इलाज के लिए असर्फी अस्पताल पहुंचे, लेकिन उनकी गंभीर हालत को देखते हुए वहां के डॉक्टरों ने उन्हें पीएमसीएच धनबाद रेफर कर दिया।

खिलाड़ियों ने अपने गुरु को पीएमसीएच ले जाने के लिए वहां एंबुलेस खोजी, लेकिन उन्हें एंबुलेंस तो खड़ी मिली लेकिन उसका ड्राइवर नदारद था। इसके बाद अभिजीत दा के शिष्य बिना समय गंवाए उन्हें अपनी स्कूटी से ही पीएमसीएच लेकर पहुंचे, लेकिन वो बच नहीं सके।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending