Connect with us

प्रादेशिक

गुजरात में 19 साल का भाई बना हैवान, बहन से जबरन बनाए संबंध

Published

on

अहमदाबाद। गुजरात के अहमदाबाद में रिश्तों को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 19 साल के लड़के ने अपनी बहन से रेप किया।

घटना के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी अमन उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़िता युवक को राखी बांधा करती थी।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपी ने अपनी बहन से रेप इसलिए किया क्योंकि उसका गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप हो गया था। उसे शक था कि उसकी बहन की वजह से ही उसका रिश्ता टूटा है। इसलिए बदला लेने के लिए उसने इस शर्मनाक घटना को अंजाम दिया।

पीड़िता ने वडाज पुलिस को बताया कि वो आरोपी को स्कूल के दिनों से जानती है। वह अक्सर मेरे घर आता था। पिछले कुछ दिनों से वह नाराज था। मैंने उसे बात करने के लिए घर बुलाया तो उसने मेरे साथ ना केवल रेप किया बल्कि अप्राकृतिक संबंध बनाने के लिए भी मजबूर किया।

पीड़िता ने आगे बताया कि आरोपी अमन ने मेरे साथ मारपीट भी की और गालियां भी दी। उसने मुझे फर्श पर गिरा दिया और रेप किया और अप्राकृतिक संबंध बनाए।

आरोपी घर से निकलने का नाम नहीं ले रहा था। किसी तरह मैं उसके चुंगल से निकली और पुलिस के पास आई। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने शिकायत दर्ज कर आरोपी अमन को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस फिलहाल उससे पूछताछ में जुटी है

प्रादेशिक

सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनन्द बर्द्धन ने की बैठक

Published

on

By

प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनन्द बर्द्धन ने मंगलवार को एनआईसी, सचिवालय में राजकीय और अनुदानित महाविद्यालयों के प्राचार्यों और हर जनपद के नोडल अधिकारियों के साथ वीडियो कॉफ्रेंसिग के ज़रिए से बैठक ली।

उन्होंने कहा कि सभी महाविद्यालयों में शिक्षक टीचिंग प्लान, पाठ्यक्रम पूर्ण होने की स्थिति, शिक्षकों की तैनाती, छात्र-छात्राओं की संख्या, एडूसेट के माध्यम से शिक्षण कार्य, नेट वर्क कनेक्टिविटी की उपलब्धता के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई।

जिन दूरस्थ स्थित महाविद्यालयों में कतिपय विषयों में शिक्षकों की तैनाती नहीं है और स्थानीय स्तर पर प्राचार्य के विज्ञापन निकालने के पश्चात भी शिक्षक उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं, वहां यह निर्देश दिए गए कि निदेशालय स्तर से उन महाविद्यालयों के लिए विज्ञापन प्रकाशित किया जाए और उन दूरस्थ महाविद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती की जाए।

उन्होंने कहा कि सभी स्नात्तकोत्तर महाविद्यालयों में 10-20 बच्चों का ग्रुप बनाकर मेन्टरशिप की व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए गए। महाविद्यालयों में स्थित लाइब्रेरी में पाठ्यक्रम पुस्तकों के साथ रिफ्रेन्सबुक और कई प्रतियोगितात्मक परीक्षाओं से सम्बन्धित पुस्तकें/सामग्री भी सम्मलित करने और पाठ्यक्रम से सम्बन्धित नावेललोरिएट की पुस्तकों की भी व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया गया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending