Connect with us

नेशनल

ममता को मिला माया का साथ, बोली-बंगाल हिंसा के लिए मोदी-शाह ज़िम्मेदार

Published

on

बंगाल की राजधानी कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली में हुए हिंसा के चलते चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार पर चुनाव प्रचार खत्म होने 19 घंटे पहले ही रोक लगा दी है। जिसके चलते बसपा सुप्रीमो मायावती ने ममता बनर्जी का समर्थन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है।

मायावती कहा कि बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगानी ही थी तो मोदी की प्रस्तावित दो रैलियों के बाद रोक क्यों लगाई? मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के जिम्मेदार बीजेपी और आरएसएस हैं। उन्होंने कहा, ‘बंगाल में चुनावी हिंसा और बवाल का सवाल है तो वहां ऐसा साफ तौर पर ऐसा लगता है कि हिंसा जानबूझकर आरएसएस और बीजेपी की ओर से करवाई गई है।’

बीएसपी प्रमुख मायावती ने पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर हमला करते हुए कहा कि सोची समझी रणनीति के तहत ममता बनर्जी को टारगेट किया जा रहा है। उन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह को गुरु और चेले से संबोधित करते हुए कहा कि वजह दोनों हाथ धोकर ममता के पीछे पड़े हैं जो न्याय संगत नहीं है।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग के आदेश के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में 19 मई को होने वाले मतदान के लिए गुरुवार की रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लग जाएगी। कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसक झड़प की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए यह कार्रवाई की गई है।

नेशनल

सियाचिन में हिमस्खलन से 4 जवान शहीद

Published

on

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर में भारतीय सेना के एक प्रेट्रोलिंग टीम के तूफान में फंसने के कारण 4 जवान शहीद हो गए हैं। सियाचिन ग्लेशियर से यह दिल दहलाने वाली घटना से सेना के परिवार समेत देश में सभी आहत है।

ये सभी जवान बर्फीले तूफान में फंस गए उस समय जब 8 सदस्यीय टीम प्रेट्रोलिंग कर रही थी। यह घटना आज तड़के 3.30 बजे की है। इसके अलावा इस बर्फीली तूफान ने 2 नागरिकों की भी मौत हो गई है।

18,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित सियाचीन ग्लेशियर में भारतीय जवान अपनी जान की परवाह किए बिना दिन-रात तैनात रहते हैं। इस क्षेत्र में हिमस्खलन की घटना होती रहती है।

एक बर्फीले तूफान की चपेट में आने के बाद रेस्क्यू टीम तुरंत हरकत में आई। सभी जवानों को आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया। जहां 4 जवानों ने इलाज के दौरान ही दम तोड़ दिया। अन्य 7 लोगों को बचाने के लिये डॉक्टर्स की टीम लगातार गहन चिकित्सा कर रही है। लेकिन सभी का हालात गंभीर बताई जा रही है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending