Connect with us

नेशनल

छठे चरण में हुए कुल 63 फीसदी मतदान, वोटिंग में बंगाल इस बार भी रहा आगे

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के छठे फेज मे रविवार को कुल 63 फीसदी मतदान हुए। इस बार के चुनाव में लगभग 0.7 फीसदी वोटिंग कम हुई।

साल 2014 में छठे चरण में 63.7 प्रतिशत वोट पड़े थे। वोटिंग के मामले में बंगाल इस फेज भी चैंपियन रहा। यहां हिंसा के बावजूद सबसे ज्यादा 80% मतदान हुआ।

वहीं दिल्ली में 60.21%,, उत्तर प्रदेश में 54.53%, बिहार में 59.38%, झारखंड में 64%, मध्यप्रदेश में 63% और हरियाणा में 65% वोट डाले गए।

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव कुल सात चरण में होने हैं। इनमें 89 फीसदी चुनाव संपन्न हो चुके हैं। आखिरी फेज के चुनाव 19 मई को 8 राज्यों के कुल 59 सीटों पर चुनाव होने हैं।

सातवें चरण में 8 राज्यों की 59 सीटें

उत्तर प्रदेश- महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, रॉबर्ट्सगंज

मध्य प्रदेश-देवास, उज्जैन, मंदसौर, खरगौन, खंडवा, रतलाम, धार

बिहार- नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकट, जहानाबाद

हिमाचल प्रदेश- कांगड़ा, शिमला, मंडी, हमीरपुर

झारखंड- राजमहल, दुमका, गोड्डा

पंजाब- गुरदासपुर, अमृतसर, जालंधर, होशियारपुर, आनंदपुर साहिब, लुधियाना, फतेगढ़ साहिब, फरीदकोट, फिरोजपुर, बठिंडा, संगरुर, पटियाला, खडूर साहिब

चंडीगढ़ – चंडीगढ़

पश्चिम बंगाल-  दमदम, बारासात, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, डायमंड हार्बर, जाधवपुर, कोलकाता दक्षिण, कोलकाता उत्तर

 

नेशनल

नक्शा फाड़े जाने पर हिंदू महासभा ने की राजीव धवन के खिलाफ बार काउंसिल में शिकायत

Published

on

नई दिल्ली। अयोध्या जमीन विवाद केस की सुनवाई के अंतिम दिन कुछ ऐसा हो गया कि मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन सुर्खियों में आ गए।

बुधवार को सुनवाई के 40वें दिन हिंदू महासभा के वकील द्वारा एक नक्शा पेश किए जाने के बाद राजीव धवन ने उसे फाड़ दिया। जिसके बाद हिंदू महासभा ने इसकी शिकायत बार काउंसिल ऑफ इंडिया में की है।

हिंदू महासभा ने बार काउंसिल के सामने मामले का संज्ञान लेते हुए राजीव धवन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को जब हिंदू महासभा के वकील ने किताब और एक नक्शा पेश किया, तो राजीव धवन भड़क गए थे। उन्होंने तब उस नक्शे को फाड़ दिया और पांच टुकड़े कर दिए।

हालांकि, बाद में जब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में चर्चा हुई तो राजीव धवन ने कहा कि उन्होंने नक्शा चीफ जस्टिस के कहने पर फाड़ा था।

दरअसल, जब हिंदू महासभा के वकील उस पर्चे को दिखा रहे थे तब राजीव धवन ने वह नक्शा छीन लिया और कहा कि वह इस पर जवाब नहीं देंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने उनसे कहा कि आप चाहे तो इसे फाड़ दें, तभी राजीव धवन ने नक्शे को फाड़ दिया।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending