Connect with us

बिजनेस

हीरो मोटोकॉर्प ने निकाली शानदार स्कीम, 555 रुपए में घर ले जाएं स्कूटी

Published

on

नई दिल्ली। हीरो मोटोकॉर्प की तरफ से कस्टमर्स के लिए शानदार ऑफर निकाला गया है। इस ऑफर के तहत आपको नई स्कूटी घर ले जाने के लिए आपको केवल 555 रुपए खर्च करने होंगे।

हालांकि 555 रुपए में स्कूटी घर ले जाने का गणित थोड़ा पेचीदा है। इस स्कीम के तहत अगर कोई हीरो का नया स्कूटर खरीदता है तो वह पांच साल के भीतर उसे कंपनी को ही बेच सकता है।

हीरो के प्रोडक्‍ट को बेचकर खरीदने के इस ”बायबैक” ऑफर की शुरुआत अभी दिल्ली और बेंगलुरु से हुई है। कंपनी ने इस स्कीम का नाम बायश्योरेंस रखा है। इस स्कीम के तहत पुरानी स्कूटी वापस करने पर ग्राहकों को 60-65 फीसदी रकम वापस कर दी जाएगी।

आईए समझते हैं स्कीम का पूरा गणित

अगर आपने 50 हजार रुपये एक्स शोरुम प्राइस पर एक नया स्कूटर खरीद लिया है और फिर 3 साल बाद उसे कंपनी को बेच देते हैं तो एक्स शोरुम प्राइस का 60 फीसदी के हिसाब से 30 हजार रुपये वापस कर दिया जाएगा।

ऐसे में ग्राहक को स्कूटर की कीमत 20 हजार रुपये देनी होगी। इस हिसाब से ग्राहक ने 6, 666 रुपये सालाना खर्च किए, जो कि 555 रुपये प्रतिमाह और 18.50 रुपये रोजाना आता है।

ऐसे में माना जाएगा कि ग्राहक रोजाना 18.50 रुपये खर्च करके तीन साल तक स्कूटर चलाता रहा। इस स्कीम के बारे में नजदीकी हीरो मोटोकॉर्प डीलरशिप स्टोर पर अधिक जानकारी मिल सकती है।

नेशनल

खुशखबरी : अब मुफ्त बनेगा किसान क्रेडिट कार्ड, 4 फीसदी पर 3 लाख का लोन

Published

on

By

केंद्र सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। खेती-किसानी के लिए केवल 4 प्रतिशत ब्याज दर पर पैसा देने के लिए जो किसान क्रेडिट कार्ड बनता है, उसे बनवाने के लिए लगने वाली सारी प्रोसेसिंग फीस, इंस्पेक्शन और लेजर फोलियो चार्ज को अब खत्म कर दिया जा रहा है।

यदि किसी बैंक द्वारा अब किसी किसान से ये चार्ज वसूला जाता है तो उस पर कार्रवाई की जा सकती है। इसमें 3 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है। पहले बिना गारंटी के 1 लाख का लोन मिलता था जिसे बढ़ाकर अब 1.60 लाख रुपए कर दिया गया।

जाने किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में

यदि आपके पास खेती करने के लिए ज़मीन है तो अपनी जमीन को बिना गिरवी रखे बिना लोन लिया जा सकता है। इसकी सीमा एक लाख रुपए थी। अब आरबीआई ने बिना गारंटी वाले कृषि लोन की सीमा 1.60 लाख  रुपए कर दी है।

पशुपालन और मछलीपालन वाले किसानों को भी अब केसीसी के माध्यम से 2 लाख रुपए प्रति किसान की सीमा तक 4 प्रतिशत की ब्याज दर पर लाभ दिया जाएगा, जिससे किसानों को साहूकारों से छुटकारा मिल जाए।

इस समय देश में 7,02,93,075 किसानों के पास केसीसी है। केसीसी के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा संख्या में किसानों को लाने के लिए सरकार ने बैंकों के सहयोग से किसानों के केसीसी बनाने के एक अभियान की शुरूआत की है। इसमें आवेदन सरल किया गया है और फार्म मिलने की तारीख से 14 दिनों के भीतर केसीसी जारी करने का आदेश शामिल है।

जानिए आखिर कैसे 4 प्रतिशत की दर से मिलता है कृषि लोन

खेती-किसानी के लिए ब्याजदर वैसे तो 9 प्रतिशत है। लेकिन सरकार इसमें 2 प्रतिशत सब्सिडी देती है. इस प्रकार यह 7 प्रतिशत पड़ता है। लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 प्रतिशत और छूट मिल जाती है।

इस तरह इसकी दर ईमानदार किसानों के लिए सिर्फ 4 फीसदी रह जाती है। कोई भी साहूकार इतनी सस्ती दर पर किसी को कर्ज नहीं दे सकता। इसलिए यदि आपको खेती-किसानी के लिए लोन लेना है तो बैंक जाएं और किसान क्रेडिट कार्ड बनवाइए। इसके जरिए आप 3 लाख रुपए तक का लोन आसानी से ले सकते हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending