Connect with us

प्रादेशिक

यूपी बोर्ड परीक्षा में फेल हुए छात्रों के लिए खुशखबरी, नए नियम से सभी हो जाएंगे पास

Published

on

लखनऊ। बीते दिन यानी शनिवार को यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं का रिजल्ट जारी कर दिया गया। रिजल्ट जारी होने के बाद पास हुए छात्रों के चेहरे पर मुस्कान दिख रही थी वहीं फेल हुए छात्रों के चेहरे पर निराशा।

लेकिन जो छात्र-छात्राएं फेल हो गए हैं उन्हें अब निराश होने की जरुरत नहीं। नए नियम के मुताबिक अब फेल हुए सभी स्टूडेंट्स पास हो सकेंगे।

इस बार जारी हुए रिजल्ट में कुछ छात्र ऐसे भी होंगे जो एक दो विषयों में फेल हो जाने की वजह से पास नहीं हो सकेंगे। ऐसे विद्यार्थियों को निराश होने की जरुरत नहीं है।

सभी विषयों में फेल स्टूडेंट्स भी स्क्रूटनी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। लेकिन इसमें कॉपी की री-चैकिंग नहीं होती। सिर्फ पाए मार्क्स फिर से जोड़े जाते हैं।

-सप्लिमेंट्री/कम्पार्टमेंट के जरिए भी छात्र पास हो सकते हैं। लेकिन यह सुविधा इंटरमीडिएट के छात्रों के लिए है। इसमें 24 नंबर का ग्रेस मार्क सभी विषयों को मिलाकर मिलेगा।

  1. कोई भी फेल या पास छात्र अगर अपने नंबरों से संतुष्ट नहीं है तो यह आप्शन अपना सकता है. वह सभी विषयों की स्क्रूटनी के लिए अप्लाई कर सकता है।
    2. इसके लिए प्रति विषय के लिए 100 रुपए का शुल्क ट्रेजरी में जमा करना होगा. लखनऊ में एसबीआई की ट्रेजरी ब्रांच में पूरा फॉर्म भरकर स्कूल से सत्यापित कराकर जमा कर सकते हैं। इसी तरह अन्य जिलों में भी एसबीआई की ट्रेजरी शाखा में छात्र फॉर्म और शुल्क जमा कर सकते हैं।
    3. रिजल्ट घोषित होने के 30 दिन के अंदर ही स्क्रूटनी के लिए अप्लाई किया जा सकता है। इसके लिए पूरा फॉर्म इलाहाबाद स्थित यूपी बोर्ड के कार्यालय में स्पीड पोस्ट के जरिए 30 दिन के भीतर जमा करवाना अनिवार्य है।
    4. स्क्रूटनी में सिर्फ टोटलिंग का प्रावधान है।

    सप्लिमेंट्री/ कम्पार्टमेंट के क्या हैं नियम
    1. इसके लिए छात्र या छात्रा को हिंदी विषय में पास होना जरुरी है।
    2. सप्लिमेंट्री एग्जाम के नियम ठीक उसी तरह से है जैसा की बोर्ड एग्जाम में होता है. बोर्ड सप्लिमेंट्री परीक्षा की तिथि घोषित करता है, उसके बाद ऑनलाइन फॉर्म भरना होता है। इसके लिए छात्र को 350 रुपए फीस जमा करनी होगी।

प्रादेशिक

दो साल तक अपनी बेटी की इज्जत लूटता रहा दरिंदा, फिर एक दिन….

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के एक व्यक्ति को अपनी 19 वर्षीय बेटी से दो साल तक दुष्कर्म करने और फिर उसकी हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने यह जानकारी दी।

यह घटना गोरखपुर में हुई और आरोपी को शुक्रवार को उसकी बड़ी बेटी की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने कहा कि व्यक्ति ने अपनी छोटी बेटी के साथ पिछले दो सालों में कई बार दुष्कर्म किया और फिर 26 जुलाई की रात उसे मार डाला। आरोपी ने उसके सिर को धड़ से अलग कर दिया। वहशी पिता ने उरवा इलाके में उसके सिर को दफना दिया और शरीर के निचले हिस्से को एक नाले में फेंक दिया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) सुनील गुप्ता ने कहा, “पूछताछ के दौरान, आरोपी ने पुलिस के सामने स्वीकार किया कि उसने पिछले दो वर्षों में अपनी बेटी के साथ कई बार दुष्कर्म किया और फिर उसकी हत्या कर दी।”

आरोपी की पत्नी की 15 साल पहले मौत हो चुकी है और उसकी बड़ी बेटी की शादी 2015 में हुई थी। वह छोटी बेटी के साथ रह रहा था।

बड़ी बेटी को उस समय शक हुआ जब उसकी बहन रक्षा बंधन पर उससे मिलने नहीं गई। जब उसने इस बारे में पूछताछ की, तो आरोपी ने उसे बताया कि उसने अपनी छोटी बेटी की हत्या कर दी है।

एसएसपी ने बताया, “पुलिस ने शव को बरामद कर लिया है। आरोपी पिता के खिलाफ हत्या और दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है और उसे जेल भेज दिया गया है।”

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending