Connect with us

नेशनल

बड़ी खबरः नामांकन दाखिल करने से पहले पीएम मोदी को लेनी होगी ‘कोतवाल’ से अनुमति!

Published

on

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना नामांकन दाखिल करने वाराणसी पहुंच चुके हैं। शुक्रवार को पीएम मोदी इस लोकसभा सीट से अपना नामांकन करेंगे लेकिन इस सीट से पर्चा भरने से पहले पीएम मोदी को ‘कोतवाल’ से अनुमति लेनी होगी।

अगर आप कोतवाल का मतलब पुलिस समझ रहे हैं तो बता दें कि हम किसी पुलिस अधिकारी की नहीं बल्कि ‘काशी के कोतवाल’ काल भैरव की बात कर रहे हैं।

काल भैरव को काशी का कोतवाल कहा जाता है। हिंदू मान्यता के मुताबिक उन्हें स्वंय भोलेनाथ ने काशी में नियुक्त किया था। कहा जाता है कि काशी में रहने के लिए काल भैरव की अनुमति लेना जरूरी होता है।

पीएम मोदी जब भी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाते हैं तो वह काल भैरव की पूजा जरूर करते हैं। ऐसा माना गया है कि वाराणसी में रहना है तो काशी के कोतवाल का दर्शन करना जरूरी है।

ये ऐसे देवता हैं जिन्हें सब पसंद है। चाहे वह टॉफी, बिस्किट, मिठाई या दारू से लेकर गांजा भांग। आज भी ये काशी के कोतवाल के रूप में पूजे जाते हैं। इनका दर्शन किए बगैर विश्वनाथ का दर्शन अधूरा रहता है।

वाराणसी के कोतावली पुलिस थाने में एसएचओ की कुर्सी पर बाबा काल भैरव विराजते हैं। अफसर बगल में कुर्सी लगाकर बैठते हैं। कहा जाता है कि ये परंपरा सालों से चली आ रही है।

यहां कोई भी थानेदार जब पोस्टिंग होकर आया, तो वो अपनी कुर्सी पर नहीं बैठा। कोतवाल की कुर्सी पर हमेशा काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव विराजते हैं। वो शहर के रक्षक हैं। शहर में बिना काल भैरव की इजाजत के कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता।

नेशनल

ट्रंप के बयान पर बोले राहुल गांधी-पीएम मोदी को देश के सामने बताना होगा सच

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कश्मीर मामले पर दिए गए बयान के बाद भारतीय राजनीति में हड़कंप मच गया है।

हाल ही में ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बातचीत के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने को कहा था और वह इसके लिए तैयार हैं।

ट्रंप के इस बयान के बाद मंगलवार को संसद में खूब हंगामा हुआ। जिसके बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सदन में खड़े होकर इस बयान को सिरे से खारिज कर दिया है।

भारत का साफ कहना है कि कश्मीर द्वीपक्षीय मसला है और भारत इसमें किसी तीसरे पक्ष का हस्तक्षेप नहीं चाहता। अब इस मामले में राहुल गांधी का भी बयान आया है।

सांसद गांधी ने पूरे मसले पर प्रधानमंत्री से जवाब देने को कहा है। राहुल ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को राष्ट्र को बताना चाहिए कि उनके और ट्रंप के बीच क्या बात हुई थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending