Connect with us

नेशनल

RLSP अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा का बेतुका बयान, कहा- “रामलीला में सीता सिगरेट पीती हैं”

Published

on

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और कांग्रेस, आरजेडी के सहयोगी उपेन्द्र कुशवाहा ने एक बार फिर विवादित बयान दे दिया है। इस बार उन्होंने धर्म को समक्ष रखते हुए माता सीता पर एक बेहद  अपमानजनक टिप्पणी की है।राष्ट्रीय लोक समता पार्टी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा दरभंगा में बिहार के महागठबंधन प्रत्याशी अब्दुल बारी सिद्दीकी का प्रचार करने पहुंचे थे जहां उन्होंने बीजेपी के 5 साल के कार्यकाल पर निशाना साधा। इसी दौरान उन्होंने बीजेपी की तुलना रामलीला की पात्र माता सीता से की और कहा कि, ‘जिस सीता मैया को मंच पर देखकर लोग सिर झुकाते हैं, वही पर्दे के पीछे जाकर सिगरेट पीती है।’

कुशवाहा यहां ही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा की वो एनडीए में रहकर आए हैं इसलिए उन्हों पता है कि वहां अंदर से कुछ और हैं और बाहर से कुछ और। उपेंद्र कुशवाहा ने यह भी कहा कि बीजेपी के कार्यकर्ताओं में रामलीला के लोगों का ज्यादा अनुभव है। इस बयान के दौरान ही उपेंद्र कुशवाहा अपनी सीमा ही लांग गए, वह बोले कि रामलीला के पात्रों में एक व्यक्ति मां सीता का रूप धारण करके आता है। जब माताएं-बहनें उसे देखती हैं तो सिर झुका लेती हैं। इतना सम्मान होता है मन में देवी के रूप के लिए। पर्दे के सामने वो मां सीता होती है लेकिन जब पर्दे के पीछे जाकर देख लीजिए तो वही सीताजी सिगरेट पीती रहती है।चुनाव के चलते नेताओं की एक दूसरे को लेकर तो बद्द्जुबानी चल ही रही थी लेकिन अब इन लोगों ने देवी-देवताओं को भी इस बद्द्जुबानी के दल-दल में घसीट लिया। लोकसभा चुनाव 2019 के प्रारंभ होते ही हिंदू धर्म एवं सभी धर्मों को ये नेता निशाना बनाते आए हैं। उपेंद्र कुशवाहा का कोई हक़ नहीं बनता किसी भी धर्म का या किसी भी देव-देवता का इस तरह भरी सभा में मजाक बनाए।

विपक्षी दलों ने उनके खिलाफ आवाज़ उठानी शुरू कर दी है और उनसे माफ़ी मांगने की अपील भी की है साथ ही यह भी कोशिश की जाएगी कि उन पर चुनाव आयोग की ओर से दवाब बनाया जाए।

नेशनल

राज्य सभा सचिवालय के अधिकारी पाए गए कोरोना संक्रमित, ऑफिस सील

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस देश में तेजी से अपने पांव पसार रहा है। भारत में अब यह वायरस हर रोज लगभग 7 हजार लोगों को अपना शिकार बना रहा है।

इस खतरनाक बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में तो अब हर दिन हजार से ज्यादा कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं।

अब इस वायरस ने संसद परिसर में भी दस्तक दे दी है। राज्यसभा सचिवालय में डायरेक्टर लेवल पर कार्यरत एक अधिकारी की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद संसद भवन स्थित उनके द़फ्तर को सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि अधिकारी की पत्नी और बच्चे भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं।

उनका द़फ्तर संसद भवन एनेक्सी के पहले तल पर रूम नंबर 120 में है। अधिकारी 28 मई को ऑफिस आए थे। पार्लियामेंट सिक्योरिटी सर्विस ने उनके द़फ्तर को सेनिटाइज कर सील कर दिया।

पहले तल के सभी गेट, वॉशरूम आदि को सेनेटाइज किया गया है। राज्यसभा सचिवालय ने उन सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को सजग रहने के लिए कहा है, जो अधिकारी के संपर्क में आ चुके हैं। संपर्क में आने वाले लोग अब एहतियातन कोविड-19 टेस्टिंग कराने की तैयारी में हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending