Connect with us

नेशनल

24 साल बाद मुलायम ने कही ऐसी बात, सुनकर मुस्कुराने लगी मायावती

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय राजनीति में आज का दिन इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश का मैनपुरी में 24 साल बाद एक दूसरे के धुर विरोधी रहे मायावती और मुलायम सिंह यादव एक मंच पर दिखे।

लगभग ढाई दशक बाद मुलाकात होने पर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव खुश नजर आए और मैनपुर आने पर धन्यवाद भी दिया। मुलायम ने कहा कि हम और मायावती लंबे समय के साथ एक मंच पर आए हैं।

मैं सभी से कहना चाहूंगा कि मायावती जी का सम्मान करना, रैली के दौरान उन्होंने कहा कि जब भी जरूरत पड़ी है, तब-तब मायावती ने हमारा साथ दिया है और हमने भी उनका साथ दिया है। इसलिए मायावती का सम्मान जरूर करना। मुलायम की ये बातें सुनकर मायावती मुस्कुराती रहीं।

आपको बता दें कि 2 जून 1995 को हुए गेस्ट हाउस कांड के बाद दोनों पार्टियों के बीच तलवारें खिंच गई थी। इस घटना के बाद माय़ावती कई बार सार्वजनिक मंच से मुलायम पर निशाना साध चुकी हैं।

24 साल बाद ये पहला मौका है जब मायावती और मुलायम सिंह यादव एक साथ एक मंच पर आए हैं। रैली में बसपा प्रमुख मायावती मुलायम की तारीफ करने में पीछे नहीं रहीं। उन्होंने कहा कि मुलायम ही पिछड़े वर्ग का असली नेता कहते हुए नरेद्र मोदी को फर्जी ओबीसी बता दिया।

नेशनल

जस्टिस बोबडे हो सकते हैं अगले मुख्य न्यायाधीश, सीजेआई ने पत्र लिखकर की सिफारिश

Published

on

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं ऐसे में नए चीफ जस्टिस की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

जस्टिस रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर उनके बाद जस्टिस एसए बोबडे को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश बनाने का सिफारिश की है।

यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों से सामने आई है। प्रक्रिया के अनुसार, वर्तमान सीजेआई ही अगले सीजेआई की सिफारिश करता है। आपको बता दें कि जस्टिस रंजन गोगोई के बाद जस्टिस बोबडे सुप्रीम कोर्ट में दूसरे वरिष्ठतम जज हैं।

अगर उनके नाम पर सहमति बन गई तो जस्टिस बोबडे 18 नवंबर को सीजेआई के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे। वे देश के 47वें मुख्य न्यायाधिश होंगे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending