Connect with us

मनोरंजन

सेल्समैन की नौकरी करने वाला शख्स बना सुपरस्टार, एक फिल्म के लेता है करोड़ों रुपए!

Published

on

मुंबई। फिल्म इंडस्ट्री में कड़े संघर्षों के बाद स्टार बनने की कई कहानी आपने सुनी होगी लेकिन आज हम जिस एक्टर के स्ट्रगल के बारे में बताने जा रहे हैं वो वाकई काबिल-ए-तारीफ है।

हम बात कर रहे हैं साउथ के सुपरस्टार विजय सेतुपति की। विजय के संघर्ष के दिनों की कहानी किभी भी नए सितारे के लिए प्रेरणा का काम कर सकती है। विजय सेतुपति की गिनती तमिल इंडस्ट्री की ऐसा सितारों में होती है जो चुनिंदा रोल को परफेक्शन से करते हैं।

तमिल सिनेमा को बुलंदियों तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले विजय को किसी समय गरीबी की वजह से कई छोटे-मोटे काम करने पड़े। पॉकेट मनी के लिए उन्होंने सेल्समैन, कैशियर और फोन बूथ ऑपरेटर तक की नौकरी करनी पड़ी।

परिवार की स्थिति और अपने तीन भाई-बहनों की देखभाल करने के लिए विजय बी.कॉम करने के बाद दुबई नौकरी करने चले गए। दो साल अकाउंटेंट की नौकरी करने के बाद जब विजय को लगा कि उन्हें कुछ और करना चाहिए तो सब कुछ छोड़कर वह भारत वापस आ गए।

एक्टिंग से विजय को इतना लगाव था कि भारत आकर उन्होंने एक थियेटर में अकाउंटेंट की नौकरी तक की। यहां कई तरह के काम किए लेकिन फिर एक दिन एक्टिंग में करियर शुरू करने का फैसला किया क्योंकि बालू महेंद्र ने उनसे एक बार कहा था कि तुम्हारा चेहरा फोटोजनिक है। विजय सेतुपति ने एक्टिंग की क्लास ली और फिर छोटे-मोटे रोल फिल्मों में करते रहे।

फिल्मों में विजय बैकग्राउंड एक्टर के तौर पर करियर की शुरुआत की। धीरे-धीरे अपनी एक्टिंग के दम पर उन्हें इंडस्ट्री में पहचाना जाने लगा। साल 2012 उनके लिए टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ।

इस साल रिलीज हुई उनकी फिल्म ‘पिज्जा’ और ‘नादुवुला कुंज पक्काता कानोम’ ने उनकी जिंदगी बदल दी। यह दोनों फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रहीं। ‘पिज्जा’ में वे डिलीवरी ब्वॉय बने थे जबकि ‘नादुवुला कुंज पक्काता कानोम’ में ऐसे युवा का किरदार निभाया था जिसकी याद्दाश्त उसकी शादी से दो दिन पहले चली जाती है। दोनों ही किरदारों से विजय ने दर्शकों का दिल जीता।

मनोरंजन

बॉलीवुड डायरेक्टर कुणाल कोहली की मासी का कोरोना से निधन, 8 हफ्ते से अस्पताल में थीं भर्ती

Published

on

मुंबई। बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर कुणाल कोहली की मासी का कोरोना वायरस की वजह से निधन हो गया है। इस बात की जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से खुद दी।

कुणाल कोहली ने ट्वीट किया, ‘आठ हफ्ते संघर्ष के बाद कोविड के चलते मैंने अपने मासी को खो दिया। वह शिकागो में थीं। हम बड़ा परिवार हैं जो वास्तव में काफी करीब हैं। हम इस समय इकट्ठा नहीं हो सकते। ये नुकसान काफी दर्दनाक है। इस मुश्किल समय में मेरी मां, मासी और मामा एक साथ नहीं हैं।’

दूसरे ट्वीट में कुणाल ने लिखा, ‘मेरी मासी की बेटी अस्पताल गई, पार्किं‍ग में जाकर अपनी कार में बैठी और अपनी मां के लिए प्रार्थना की। उसे अस्पताल में भी जाने नहीं दिया गया। कोविड कितना कठोर है। भला ऐसे कोई दुनिया को अलव‍िदा कहता है।’

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending