Connect with us

प्रादेशिक

कुंभ में अद्भुत स्क्रिप्चर व दुर्लभ मूर्तियां बनाने वाले मूर्तिकार महेंद्र कोडवानी को राज्यपाल ने किया सम्मानित

Published

on

लखनऊ। प्रयागराज कुंभ में रिकॉर्ड 1 महीने के वक्त के अंदर महर्षि भारद्वाज की 30 फीट ऊंची वह 15 टन वजन की मूर्ति बनाने वाले इंदौर मध्य प्रदेश के महेंद्र कोडवानी आज लखनऊ पहुंचे। यहां शाम चार बजे उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की। राज्यपाल ने उनके उत्कृष्ट और रिकॉर्ड टाइम में किए गए मूर्ति निर्माण को लेकर उनकी प्रशंसा करते हुए उन्हें सम्मानित किया।

पिछले दिनों संपन्न हुए प्रयागराज कुंभ में कुंभ क्षेत्र के सभी मुख्य चौराहों पर लगे स्ट्रक्चर व मां गंगा की मूर्ति के साथ उन्होंने 30 फुट ऊंची महर्षि भारद्वाज जिन्होंने कुंभ और माघ मेले का आरंभ किया था, की मूर्ति बनाई। जिसका अनावरण 13 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुंभ मेला के दौरान किया था।

राजभवन में आज सम्मानित हुए मूर्तिकार महेंद्र कोडवानी ने राज्यपाल राम नाइक को महर्षि भारद्वाज की मूर्ति भेट की। इस मौके पर राज्यपाल राम नाईक ने अपनी लिखी किताब चरैवेति-चरैवेति का सिंधी संस्करण भी मूर्तिकार महेंद्र को भेंट किया और अपनी शुभकामनाएं दी। इस मौके पर इंदौर से पधारे महेंद्र कोटवानी के मुख्य सलाहकार देवेश शुक्ला, सुयेश दीक्षित भी मौजूद थे।

प्रादेशिक

एनडी तिवारी के बेटे रोहित की हुई थी हत्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि शेखर तिवारी की मौत प्राकृतिक नहीं थी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया है।

रिपोर्ट सामने आने के बाद शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम और वरिष्ठ अधिकारी डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पर पहुंचे थे। टीम रोहित के घर की जांच से मौत की वजह पता लगाने की कोशिश कर रही है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्व. एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ‘अप्राकृतिक मौत’ की बात सामने आई है। अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या का मामला) के तहत मामला दर्ज किया गया।

आपको बता दें कि मंगलवार को रोहित शेखर तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। तबीयत खराब होने पर शाम करीब 4 बजकर 41 मिनट पर साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया था।

जांच के बाद डॉक्टरों ने रोहित को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि 40 वर्षीय रोहित की मौत अस्पताल में लाने से पहले ही हो गई थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending