Connect with us

नेशनल

बीजेपी के घोषणापत्र में राम मंदिर के लिए जो लिखा है, देखकर टूट जाएगा ‘भक्तों’ का दिल

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में दोबारा सत्ता हासिल करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने सोमवार को अपना मेनिफेस्टो जारी कर दिया।

बीजेपी ने इस बार भी अपने घोषणापत्र को संकल्प पत्र नाम दिया है। संकल्प पत्र का टाइटल सकंल्पित भारत, सशक्त भारत दिया गया है।

मेनिफेस्टो में किसानों को हर साल 6 हजार रुपए देने की बात कही है वहीं 60 साल के दुकानदारों को पेंशन देने का एलान भी किया गया है।

इन सब के बीच राम मंदिर के मुद्दे पर मेनिफेस्टो पर जो कहा गया है वो हैरान कर देने वाला है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हर चुनाव में राम मंदिर का मुद्दा जोर-शोर से उठाने वाली बीजेपी ने इस बार के अपने घोषणापत्र में कहा कि राम मंदिर बनाने की सभी संभावनाओं को तलाश करेगी।

बीजेपी के इस बात से हर कोई हैरान हो सकता है जिन्हें भव्य राम मंदिर निर्माण का बरसों से इंतजार है। राम मंदिर पर इस तरह के ‘संकल्प पत्र’ से ऐसा प्रतीत होता है कि बीजेपी के पास भव्य राम मंदिर निर्माण का कोई ब्लू प्रिंट नहीं है।

आपको बता दें कि साल 2014 में बीजेपी ने वादा किया था कि सत्ता में आते ही भव्य राम मंदिर निर्माण किया जाएगा लेकिन पांच साल तक इस मुद्दे को कोर्ट में विचाराधीन बताकर इससे पल्ला झाड़ते रहा गया। अब 2019 के इस घोषणापत्र आने के बाद यह साबित हो गया है कि राम मंदिर का मुद्दा सुलझाना आपसी सहमति से ही संभव है।

नेशनल

बडगाम में आतंकियों ने भाजपा नेता को उतारा मौत के घाट

Published

on

जम्मू| जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने भाजपा नेता की गोली माकर हत्या कर दी। मृतक अब्दुल हमीद नाजर बडगाम जिले के ओमपोरा इलाके में भारतीय जनता पार्टी के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा के जिलाध्यक्ष थे। अब्दुल हमीद नजर को आतंकवादियों ने रविवार की सुबह उनके घर के पास गोली मार दी थी। वह सुबह की सैर के लिए घर से निकले थे।

गोलियां लगने से गंभीर रूप से घायल हुए नजर को अस्पताल ले जाया गया जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। इस घटना को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

आतंकी विशेष रूप से भाजपा नेताओं को निशाना बना रहे हैं। जून माह से अब तक चार भाजपा नेताओं पर हमले हो चुके हैं। 11 जुलाई को बांदीपोरा के पूर्व जिला अध्यक्ष वसीम बारी की उनके पिता और भाई समेत हत्या कर दी गई थी। इसके बाद 15 जुलाई को सोपोर में भाजपा नेता मेहराजुद्दीन मल्ला को अगवा किया गया था, हालांकि इन्हें दस घंटे में ही मुक्त करा लिया गया था। इसके बाद चार अगस्त को कुलगाम में पंच पीर आरिफ अहमद शाह को गोली मार दी गई थी,छह अगस्त को सज्जाद खांडे की हत्या कर दी गई।

Continue Reading

Trending