Connect with us

नेशनल

जब छात्र ने राहुल गांधी से पूछा-कहां से देंगे 72 हजार रुपए, मिला दिलचस्प जवाब

Published

on

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव में हर राजनीतिक दल की नजर युवा वोटरों पर है सभी राजनीतिक दल जीत हासिल करने के युवाओं को रिझाने में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहते।

शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी महाराष्ट्र के पुणे में छात्रों के बीच पहुंचे। यहां उन्होंने युवाओं से सीधा संवाद किया। छात्रों से इंटरैक्शन के बीच एक स्टूडेंट ने जब राहुल से न्याय योजना की फंडिंग से जुड़ा सवाल किया तो उन्होंने इसका बहुत दिलचस्प जवाब दिया।

दरअसल, एक छात्र ने सवाल किया कि न्याय योजना के लिए आप पैसे कहा से लाएंगे इस पर राहुल ने कहा कि हम नीरव मोदी, अनिल अंबानी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या से पैसे लेकर गरीबों को देंगे। उन्होंने कहा कि इस योजना के लिए कांग्रेस की सरकार मिडिल क्लास पर टैक्स का बोझ नहीं डालेगी।

उन्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी ने पूरा हिसाब लगा लिया है, पैसा कहां से आना है और कैसे बांटा जाना है। पहले पायलट प्रोजेक्ट होगा और उसके बाद पूरे देश में लागू किया जाएगा।

रोजगार के बारे में राहुल गांधी ने कहा कि आज हमारे देश में 27 हजार नौकरियां हर 24 घंटे में खोई जा रही हैं, वहीं चीन लगातार अपने देश में रोजगार पैदा कर रहा है।

हमारे यहां स्किल को तवज्जो नहीं दी जाती है। छात्रों से संवाद करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसलों से देश की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है। नोटबंदी से जो झटका लगा है उसे वापस नहीं किया जा सकता है, लेकिन हम अर्थव्यवस्था को उबारने का काम करेंगे. राहुल ने यहां कांग्रेस पार्टी के घोषणापत्र की बातें भी छात्रों के सामने रखीं।

नेशनल

निर्भया के दोषियों को इस दिन दी जा सकती है फांसी, सताने लगा मौत का डर

Published

on

नई दिल्ली। देश में बढ़ती रेप की घटनाओं को लेकर लोगों के अंदर गुस्सा है। पहले हैदराबाद में डॉक्टर दिशा की रेप के बाद जलाकर की गई हत्या हो या उन्नाव में रेप पीड़िता को जलाकर मार देना। लोग रेप के दोषियों के जल्द से जल्द फांसी देने की मांग कर रहे हैं। इस बीच निर्भया को दोषियों को भी अपनी मौत का डर सताने लगा है। दरअसल दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के बाद गृह मंत्रालय ने निर्भया के दोषियों की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजा है। अब अगर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दया याचिका को खारिज करते हैं तो दोषियों को सजा दी जाएगी।

निर्भया के दोषियों की दया याचिका खारिज होने के बाद अब उनकी फांसी की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसी बीच फांसी की तारीख को लेकर भी कई मीडिया रिपोर्ट्स सामने आ रही हैं, जिसमें दिसंबर 2019 का ही एक दिन फांसी के लिए तय बताया जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार निर्भया के दोषियों को उसी दिन सजा दी जा सकती है जिस तारीख को उसके साथ घिनौना कृत्य किया गया था जिसमें उसकी जान चली गई।

कहा जा रहा है कि निर्भया के दोषियों 16 दिसंबर को ही सुबह पांच बजे फांसी दी जा सकती है। हालांकि इस बात की पुष्टि अभी जेल प्रशासन ने नहीं की है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि फांसी की तारीख लगभग तय है। तिहाड़ प्रशासन को सिर्फ जल्लाद मिलने की तलाश है। निर्भया से दुष्कर्म और हत्या के जुर्म में मौत की सजा पाए तिहाड़ में बंद दोषियों को फांसी के लिए अधिकारियों को जल्लाद नहीं मिल रहा है। सूत्रों ने बताया कि इसलिए अधिकारी जल्लाद की तलाश में देश की अन्य जेलों के चक्कर काट रहे हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के जेल अधिकारियों से इस बारे में अनौपचारिक बातचीत चल रही है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending