Connect with us

नेशनल

लोकसभा चुनाव से पहले हुआ एक और ‘सर्जिकल स्ट्राइक’, जानकर रह जाएंगे हैरान!

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा के पहले फेज के चुनाव होने में अब बहुत कम समय बचा है ऐसे में नेताओं की रैलियां और चुनावी वादों की झड़ी सी लग गई है। जहां एक ओर राजनीतिक दल सत्ता पाने के लिए ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं वहीं चुनाव आयोग भी इन चुनावों को सफलतापूर्व और निष्पक्ष कराने की पूरी कोशिश में है।

आम चुनाव में फलाए जाने वाले फेक न्यूज पर चुनाव आयोग की पहले से ही टेढ़ी नजर है वहीं अब वॉट्सऐप ने भी इसको लेकर बड़ा कदम उठाया है। वॉट्सऐप ने देश में चुनाव के दौरान फर्जी खबरों पर रोकथाम के लिए साइबर सर्जिकल स्ट्राइक की है।

वॉट्सऐप ने इसके लिए ‘चेकप्वाइंट टिपलाइन’ सेवा लॉन्च की है। इसकी मदद से लोग वॉट्सऐप पर आई किसी भी खबर के बारे में पता कर सकते हैं कि वह खबर सही है या गलत।

चेकप्वाइंट टिपलाइन को भारत के ही प्रोटो नाम के एक मीडिया स्टार्टअप की मदद से लॉन्च किया गया है। हालांकि इसके तकनीकी पक्ष में वॉट्सऐप की भी सहायक भूमिका रही है।

अगर किसी भी शख्स को वॉट्सऐप पर मिलने वाली सूचना संदिग्ध लगती है तो वो उसकी शिकायत + 91-9643-000-888 पर दर्ज करा सकते हैं। एक बार संदेश भेजने के बाद, प्रोटो का सत्यापन केंद्र इस बात की जांच करेगा कि मैसेज में किया गया दावा सच है या झूठ। इसके बाद उपयोगकर्ता को पूरी जानकारी दी जाएगी, ताकि उन्हें सही खबर का पता लग सके।

नेशनल

एम्स में अरुण जेटली का हाल जानने के लिए नेताओं का लगा तांता

Published

on

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली की सेहत का हाल जानने के लिए नेताओं का तांता लगा हुआ है।

दिल्ली के एम्स अस्पताल में केंद्रीय मंत्रियों के अलावा विपक्षी नेता भी अरुण जेटली से मिलने पहुंच रहे हैं। शनिवार को जेटली से मिलने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल पहुंचे तो वही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और मायावती ने एम्स पहुंचकर उनका हाल जाना। आपको बता दें कि अरुण जेटली हालत नाजुक बनी हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दोबारा अरुण जेटली से मिलने एम्स जा सकते हैं। अमित शाह शुक्रवार देर रात पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे थे।

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन अरुण जेटली को देखने एम्स पहुंचे थे। उनसे पहले केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह आज सुबह जेटली का हालचाल लेने एम्स गए।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली काफी समय से बीमार हैं और 9 अगस्त को उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। अमित शाह बीती रात 12 बजे के करीब जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे थे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending