Connect with us

प्रादेशिक

प्राइवेट पार्ट में 1.5 KG सोना छुपाना महिला को पड़ा भारी, हो गया ऐसा हाल…….

Published

on

चेन्नई से तस्करी का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर आपके होश उड़ जाएंगे। यहां एक महिला ने लाखों के सोने को बचाने के लिए क्या कुछ नहीं किया लेकिन अधिकारियों की मुस्तैदी के आगे महिला तस्कर की एक न चली और सारा सोना पकड़ा गया। दरअसल, 29 मार्च को एक महिला विदेश से सोना लेकर भारत आ रही थी।

यह महिला मूल रूप से थाईलैंड की रहने वाली है जिसका नाम क्रायसॉर्न थामप्राकोप बताया जा रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक क्रायसॉर्न बड़ी होशियारी से डेढ़ किलो सोने की तस्करी करने की फिराक में थी लेकिन उसके मंसूबों पर एयरपोर्ट पर मौजूद कस्टम अधिकारियों ने पानी फेर दिया।

पार्किंग के पास सीमा शुल्क के अधिकारियों ने जब क्रायसॉर्न को रोका तो उसके होश उड़ गए। पहले क्रायसॉर्न ने चालाकी दिखाने की कोशिश की लेकिन जब क्रायसॉर्न की जांच की गई तो अधिकारियों के होश उड़ गए।

क्रायसॉर्न ने अपनी ब्रा में करीब डेढ़ किलो सोना छिपा रखा था। बरामद किए गए सोने की कीमत करीब 47 लाख रुपये के आसपास बताई जा रही है। इसके साथ ही कस्टम अधिकारियों ने उस शख्स को भी पकड़ लिया है जिसे क्रायसॉर्न सोना देने वाली थी।

क्रायसॉर्न यहां लवलीन कश्यप नाम के शख्स को सोना देने आयी थीं। जानकारी के मुताबिक, लवलीन चंडीगढ़ का रहने वाला है। सीमा शुल्क अधिकारी जांच कर रहे हैं कि कहीं ये दोनों अकसर तस्करी करने में लिप्त तो नहीं रहे हैं। बैंकॉक में रहने वाली लवलीन की गर्लफ्रेंड सपना ने ही क्रायसॉर्न को सोना दिया था और लवलीन को सौंपने को कहा था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कस्टम के एक अधिकारी ने बताया कि बैंकॉक में रहने वाली लवलीन की गर्लफ्रेंड सपना ने ही क्रायसॉर्न को यह सोना दिया था जो उसे लवलीन को सौंपना था। सपना ने क्रायसॉर्न को लवलीन की एक तस्वीर भी दी थी। जिसके आधार पर ही क्रायसॉर्न को लवलीन को पहचानना था, साथ ही उसे लवलीन के साथ चेन्नई से दिल्ली जाना था। ये दोनों पहली बार चेन्नई में मिले थे।

हालांकि, इस मामले में कस्टम विभाग के अधिकारी अब इस बात की जांच कर रहे हैं कि थाइलैंड की यह महिला क्या पहले भी सोने की तस्करी में शामिल रही है? पुलिस को यह भी पता चला है कि लवलीन अक्सर बैंकॉक जाया करता था और वहां से कई उपहार लाया करता था। इससे पहले की महिला अपने इरादों में कामयाब हो पाती कस्टम अधिकारियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

प्रादेशिक

कैबिनेट में फेरबदल से पहले योगी सरकार के वित्त मंत्री ने दिया इस्तीफा

Published

on

लखनऊ। योगी सरकार द्वारा बुधवार को किए जाने वाले कैबिनेट विस्तार से पहले मंगलवार को वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने इस्तीफा दे दिया है।

राजेश ने इस्तीफे के लिए स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्वास्थ्य कारणों और बढ़ती उम्र की वजह से उन्होंने सीएम योगी को अपना इस्तीफा सौंपा है।

हालांकि उनका इस्तीफा मंजूर हुआ है या नहीं इस बात की जानकारी नहीं मिली है। गौरतलब है कि 75 साल के राजेश अग्रवाल बरेली से लगातार बीजेपी विधायक रहे हैं।

वे पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। अपने इस्तीफे में उन्होंने लिखा है कि अब वे 75 वर्ष के होने जा रहे हैं। पार्टी की रीती-नीति के अनुसार वे अपना त्याग पत्र बीजेपी नेतृत्व को दो दिन पहले ही सौंप चुके हैं।

उन्होंने लिखा है कि उनकी जगह कुछ नए और योग्य चेहरों को काम करने का अवसर दिया जाए। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ पार्टी संगठन के लिए काम करते रहने की बात कही है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending