Connect with us

नेशनल

नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, नहीं मिली कोर्ट से जमानत

Published

on

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक का 13,500 करोड़ लेकर फरार हुआ नीरव मोदी 40 महीने बाद आखिरकार पकड़ा गया। मंगलवार को नीरव मोदी को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया।

गिरफ्तारी के बाद नीरव ने अदालत में जमानत की अर्जी दाखिल की लेकिन कोर्ट ने अर्जी खारिज करते हुए उसे 29 मार्च तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नीरव को हॉलबोर्न से मंगलवार दोपहर गिरफ्तार किया गया।

बुधवार को उसे वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया गया, जहां उसकी जमानत अर्जी खारिज हो गई और अगली सुनवाई की तिथि 29 मार्च तक के लिए उसे पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

वेस्टमिंस्टर अदालत ने इससे सात दिन पहले मोदी के खिलाफ वारंट जारी किया था। भारत के प्रत्यर्पण के आग्रह के मद्देनजर यह वारंट जारी किया गया था।

आपको बता दें कि मोदी साल 2018 में घोटाले के सामने आने से कुछ महीने पहले ही भारत से फरार हो गया था। इंटरपोल ने प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) और केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) के आग्रह पर जुलाई 2018 में नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था।

भगोड़े कारोबारी के ठिकानों के बारे में एक रहस्य बना हुआ था, क्योंकि उसे न्यूयॉर्क, हांगकांग और अन्य शहरों में देखा गया था। अपने चाचा मेहुल चोकसी के साथ नीरव मोदी पीएनबी घोटाले में सीबीआई द्वारा जांच शुरू होने से पहले ही भाग गया था।

कुछ दिन पहले ब्रिटेन के द टेलीग्राफ अखबार के पत्रकार ने उसे लंदन की सड़कों पर टहलते हुए देखा था। पत्रकार ने उससे घोटाले से संबंधित कई सवाल पूछे लेकिन उसने किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया।

नेशनल

Breaking: अयोध्या मामले पर पुर्नविचार याचिका दाखिल करेगा AIMPLB

Published

on

लखनऊ। अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाए गए फैसले के बाद ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने पुर्नविचार याचिका दाखिल करने का फैसला लिया है।

रविवार को लखनऊ में हुई एआईएमपीएलबी की बैठक में यह फैसला लिया गया। मीटिंग के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस ऑयोजित कर एआईएमपीएलबी के सदस्यों ने कहा कि उन्हें किसी और जगह मस्जिद मंजूर नहीं है।

मीडिया को संबोधित करते हुए बोर्ड ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में माना है कि विवादित भूमि पर नमाज पढ़ी जाती थी और गुंबद के नीचे जन्मस्थान होने के कोई प्रमाण नहीं है। उन्होंने कहा कि कई मुद्दों पर फैसले समझ के परे है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending