Connect with us

प्रादेशिक

पिता ने 38 साल के शख्स से करा दी नाबालिग की शादी, जबरन बनाता था संबंध, एक दिन अचानक………….

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश से एक दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पिता ने जबरन अपनी 16 साल की नाबालिग बेटी की शादी एक 38 साल के शख्स से कर दी।

 

हैरानी वाली बात यह है कि शादी से पहले लड़की ने न तो अपने पति का चेहरा देखा था और न ही उसका नाम जानती थी। सुहागरात पर उसने अपने पति का नाम पहली बार सुना।

 

सुहागरात के दौरान पति ने लड़की के मना करने के बावजूद जबरन कई बार संबंध बनाए। किसी तरह उसने पुलिस को जानकारी दी। लड़की की शिकायत के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है।

 

पुलिस के मुताबिक,  पीड़ित 16 साल की लड़की सीमा (बदला हुआ नाम) उत्तर प्रदेश की रहने वाली है और 8वीं तक पढ़ी-लिखी है। करीब एक महीने पहले सीमा अपनी बड़ी बहन के घर गई थी। 7 मार्च को सीमा के पिता और चाचा भी घर पहुंचे। पिता ने लड़की को बताया कि उसके चाचा के बेटे की शादी है। यह कहकर उसने अपनी बेटी को साथ चलने के लिए कहा।

 

रास्ते में पिता ने सीमा को बताया कि 8 मार्च को चचेरे भाई की नहीं बल्कि खुद उसकी शादी होनी है। यह सुनकर सीमा पैरों तले की जमीन खिसक गई। इसके बाद सीमा की एक मंदिर में जबरदस्ती शादी करा दी गई।

 

सीमा ने इस शादी का जमकर विरोध किया लेकिन परिवार के आगे उसकी एक नहीं चली। शादी की सभी रस्में पूरी होने के बाद दूल्हा, सीमा  को अपने भाई के घर गाजियाबाद ले आया।

 

यहां पहुंचकर पहली बार उसे पति का नाम शेरा पता चला जिसकी उम्र 38 साल थी। यहां सीमा से उसके पति ने जबरन संबंध बनाए। 11 मार्च की शाम आरोपी, नाबालिग पत्नी को वसंत कुंज एरिया स्थित एक फॉर्म हाउस पर ले गया। यहां उसके साथ फिर से जबरन संबंध बनाए गए। शेरा इसी फॉर्म हाउस पर काम करता था।

 

इसी फॉर्महाउस पर मौका मिलते ही लड़की ने 100 नंबर पर पुलिस को कॉल कर दी। पुलिस लड़की के पास पहुंची और उसकी बात सुनी। फिर सफदरजंग अस्पताल में मेडिकल जांच करवाई गई।

 

सीमा के बयान के बाद पुलिस ने किडनैपिंग, रेप, पॉक्सो एक्ट व चाइल्ड मैरिज एक्ट के तहत केस दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है। सीमा के कोर्ट में भी सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाए जा चुके हैं। उसे एक शेल्टर होम में रखा गया है। पुलिस अब लड़की के पिता और चाचा की तलाश कर रही है।

प्रादेशिक

लखनऊ की दिव्यांशी ने CBSE की 12वीं की परीक्षा में रचा इतिहास, हासिल किए 600 में 600 अंक

Published

on

लखनऊ। लखनऊ के नवयुग रेडियंस कॉलेज की छात्रा दिव्यांशी जैन ने 12वीं की परीक्षा में 100% अंक हासिल कर इतिहास रच दिया है। दिव्यांशी ने 600 में 600 अंक हासिल किए हैं। दिव्यांशी जैन हिस्ट्री, ज्योग्राफी, इकोनॉमिक्स, इंश्योरेंस, संस्कृत और इंग्लिश विषयों से 12वीं की पढ़ाई कर रही थीं। इस साल की परीक्षा में उनके सभी विषयों में 100 फीसदी मार्क्स आए हैं।

दिव्यांशी ने कहा कि उसने कभी कोचिंग नही ली और सिर्फ स्कूल में पढ़ाए गए पाठ को रटने के बजाय समझ कर कंठस्थ करने का प्रयास किया। उसने शॉर्ट नोट्स बनाए, लेकिन कभी गाइड का सहारा नहीं लिया, बल्कि एनसीईआरटी की किताबो से ही पढ़ा। दिव्यांशी के पिता राजेश जैन स्टेशनरी का व्यवसाय करते हैं। वहीं मां सीमा जैन गृहणी हैं। उनकी बड़ी बहन श्रेयांशी जैन स्नातक में पढ़ती हैं। उनके पिता राजेश प्रकाश जैन ने कहा कि हमें बेटी पर गर्व है। उसने अपनी मेहनत से हमारा सपना पूरा कर दिया है।

दिव्यांशी को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने बधाई दी है। ट्विटर पर अखिलेश ने लिखा है कि ‘सीबीएसई बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में शत प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाली लखनऊ की छात्रा दिव्यांशी जैन को बहुत-बहुत बधाई एवं उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं।’

यह है दिव्यांशी की रिपोर्ट कार्ड
अंग्रेजी 100
संस्कृत 100
भूगोल 100
अर्थशास्त्र 100
इंश्योरेंस 100
इतिहास 100

#lucknow #divynashijain #12th result #cbse

Continue Reading

Trending