Connect with us

प्रादेशिक

पिता ने 38 साल के शख्स से करा दी नाबालिग की शादी, जबरन बनाता था संबंध, एक दिन अचानक………….

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश से एक दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पिता ने जबरन अपनी 16 साल की नाबालिग बेटी की शादी एक 38 साल के शख्स से कर दी।

 

हैरानी वाली बात यह है कि शादी से पहले लड़की ने न तो अपने पति का चेहरा देखा था और न ही उसका नाम जानती थी। सुहागरात पर उसने अपने पति का नाम पहली बार सुना।

 

सुहागरात के दौरान पति ने लड़की के मना करने के बावजूद जबरन कई बार संबंध बनाए। किसी तरह उसने पुलिस को जानकारी दी। लड़की की शिकायत के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है।

 

पुलिस के मुताबिक,  पीड़ित 16 साल की लड़की सीमा (बदला हुआ नाम) उत्तर प्रदेश की रहने वाली है और 8वीं तक पढ़ी-लिखी है। करीब एक महीने पहले सीमा अपनी बड़ी बहन के घर गई थी। 7 मार्च को सीमा के पिता और चाचा भी घर पहुंचे। पिता ने लड़की को बताया कि उसके चाचा के बेटे की शादी है। यह कहकर उसने अपनी बेटी को साथ चलने के लिए कहा।

 

रास्ते में पिता ने सीमा को बताया कि 8 मार्च को चचेरे भाई की नहीं बल्कि खुद उसकी शादी होनी है। यह सुनकर सीमा पैरों तले की जमीन खिसक गई। इसके बाद सीमा की एक मंदिर में जबरदस्ती शादी करा दी गई।

 

सीमा ने इस शादी का जमकर विरोध किया लेकिन परिवार के आगे उसकी एक नहीं चली। शादी की सभी रस्में पूरी होने के बाद दूल्हा, सीमा  को अपने भाई के घर गाजियाबाद ले आया।

 

यहां पहुंचकर पहली बार उसे पति का नाम शेरा पता चला जिसकी उम्र 38 साल थी। यहां सीमा से उसके पति ने जबरन संबंध बनाए। 11 मार्च की शाम आरोपी, नाबालिग पत्नी को वसंत कुंज एरिया स्थित एक फॉर्म हाउस पर ले गया। यहां उसके साथ फिर से जबरन संबंध बनाए गए। शेरा इसी फॉर्म हाउस पर काम करता था।

 

इसी फॉर्महाउस पर मौका मिलते ही लड़की ने 100 नंबर पर पुलिस को कॉल कर दी। पुलिस लड़की के पास पहुंची और उसकी बात सुनी। फिर सफदरजंग अस्पताल में मेडिकल जांच करवाई गई।

 

सीमा के बयान के बाद पुलिस ने किडनैपिंग, रेप, पॉक्सो एक्ट व चाइल्ड मैरिज एक्ट के तहत केस दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है। सीमा के कोर्ट में भी सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाए जा चुके हैं। उसे एक शेल्टर होम में रखा गया है। पुलिस अब लड़की के पिता और चाचा की तलाश कर रही है।

प्रादेशिक

जया प्रदा ने थामा बीजेपी का दामन, रामपुर ने आज़म के खिलाफ लड़ सकती हैं चुनाव

Published

on

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के टिकट पर सांसद रह चुकीं अभिनेत्री जया प्रदा ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। खबर है कि जया प्रदा को बीजेपी रामपुर से लोकसभा चुनाव 2019 प्रत्याशी बना सकती है। जया प्रदा रामपुर सीट से ही समाजवादी पार्टी की सांसद रह चुकी हैं।

बता दें कि जया प्रदा को पार्टी में लाने का श्रेय अमर सिंह को जाता है। उसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने जया को रामपुर से सांसद बनवाने में काफी मदद की थी। इस बार के लोकसभा चुनाव में सपा ने आजम खान को रामपुर सीट से टिकट दिया है। ऐसे में अगर जया प्रदा को बीजेपी रामपुर से प्रत्याशी बनाती है तो उनका सीधा मुकाबला आजम खान से होगा।

जया प्रदा अमर सिंह को अपना गॉड फादर मानती हैं जो बीजेपी के साथ नजदीकियों को लेकर चर्चा में बने रहते हैं। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान में शामिल होते हुए अमर सिंह ने ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार शब्द जोड़ा था।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending