Connect with us

प्रादेशिक

उप्र : अखिलेश ने अनुपूरक बजट पेश किया

Published

on

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन सोमवार को 14,856़14 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट विधानसभा में पेश किया।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दोपहर बाद लगभग 12.30 बजे अनुपूरक बजट पेश किया।

इससे पहले सत्र की शुरुआत में अहम मुद्दों पर चर्चा शुरू हुई। इस बीच बसपा ने हंगामा शुरू कर दिया। सपा विरोधी बैनर और पोस्टर लहराए। बसपा सदस्यों का कहना था कि सरकार बिजली संकट, कानून-व्यवस्था और गन्ना मूल्य के मुद्दे की लगातार अनदेखी कर रही है।

बसपा सदस्यों का कहना था कि इन विषयों पर चर्चा बेहद जरूरी है। जब तक सरकार इन मुद्दों पर बहस नहीं कराएगी और इनका निपटारा नहीं किया जाएगा, तब तक सदन की कार्रवाई नहीं चलने दी जाएगी।

It’s well thought out and actually pretty whatsapp message hacker paramount source quick if you just need to delete your emails in the morning

प्रादेशिक

यूपी सरकार को हाई कोर्ट ने दिया झटका, SC लिस्ट में नहीं शामिल होंगी 17 जातियां

Published

on

लखनऊ। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने के फैसले पर रोक लगा दी है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने प्रमुख सचिव समाज कल्याण मनोज कुमार सिंह से व्यक्तिगत हलफनामा मांगा है। जस्टिस सुधीर अग्रवाल और जस्टिस राजीव मिश्र की डिवीजन बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए ये आदेश दिया है।

हाई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि इस तरह के फैसले लेने का अधिकार राज्य सरकार के पास नहीं है। कोर्ट ने कहा कि सिर्फ केंद्र सरकार ही एससी/एसटी जातियों में बदलाव कर सकती है।

आपको बता दें कि योगी सरकार ने 24 जून को शासनादेश जारी कर 17 पिछड़ी जातियों (OBC) को अनुसूचित जातियों (SC) की सूची में शामिल कर दिया था।

इन जातियों को लिस्ट में शामिल करने के बाद सरकार की तरफ से कहा गया था कि सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़ा होने की वजह से इन जातियों को इस लिस्ट में शामिल किया गया है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending