Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

यहां चुनाव में होती है जमकर धांधली, जीतने वाले का नाम पहले से ही होता है तय!

Published

on

नई दिल्ली। भारत में लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियां जोरों शोरों से चल रहीं हैं। आम चुनाव अप्रैल से लेकर मई के बीच होने वाले हैं। आपको बता दें, कुल सात चरणों में चुनाव होंगे, जिनके नतीजों की घोषणा 23 मई को की जाएगी।

 

चुनाव के बाद ही पता चलेगा की सत्ता की चाभी इस बार किसके हाथ में होगी। चुनावी माहौल के बीच हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे हैं जहां चुनाव महज़ एक दिखावा हैं।

 

इस देश का नाम जानकार आपको हैरानी नहीं होगी। यह देश कोई और नहीं उत्तर कोरिया है जो की तानाशाह राजा किम जोंग का गढ़ है। यहां होने वाले चुनाव को दुनिया का सबसे अनोखा चुनाव कहा जाता है।

 

हर पांच साल पर यहां  ‘सुप्रीम पीपुल्स असेंबली’ के लिए चुनाव होते तो हैं, लेकिन मतदान के दौरान हर मतपत्र पर केवल एक ही उम्मीदवार का नाम होता है और वो नाम है किम जोंग उन।

 

किम जोंग उन को दुनिया उत्तर कोरिया के तानाशाह के तौर पर जानती है। कहा जाता है कि किम जोंग की इजाजत के बिना उत्तर कोरिया में पत्ता तक नहीं हिलता। वो अगर कानून बना दे तो उसे तोड़ने या फिर उसके खिलाफ विरोध करने की हिम्मत किसी में नहीं है।

 

10 मार्च को उत्तर कोरिया में ‘सुप्रीम पीपुल्स असेंबली’ के चुनाव को लेकर मतदान कराया गया, जिसके नतीजे पहले से ही तय माने जा रहे हैं। यहां के एक चुनाव अधिकारी का कहना है कि उत्तर कोरिया में चुनाव में हिस्सा लेना नागरिकों का कर्तव्य है और यहां ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जो उम्मीदवार को नकार दे।

 

यहां मतदाताओं को मतदान करते हुए मतपत्र पर केवल ‘हां’ या ‘नहीं’ ही लिखना होता है। आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘केसीएनए’ के मुताबिक, पिछले चुनाव में यहां 99.97 फीसदी मतदान हुआ था। सिर्फ वही लोग चुनाव में मतदान नहीं कर पाए थे, जो देश से बाहर थे।

रिपोर्ट-मानसी शुक्ला

अन्तर्राष्ट्रीय

Chandra Grahan के असर से क्या भारत-चीन के बीच हो सकता है महायुद्ध,देखें वीडियो

Published

on

By

भारत-चीन के बीच मौजूदा समय में हालात अच्छे नहीं है, सीमा पर दोनों देशों की ओर से सेनाएं एक दूसरे के सामने हैं। इसी बीच लेह सीमा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहुंचने से देश के लोग हैरानी में पड़ गए हैं कि सीमा पर सबकुछ ठीक है कि नहीं।

ऐसे में हमने आचार्य प्रेम शंकर त्रिपाठी से ये जानने की कोशिश की कि आने वाला समय दोनों देशों के लिए कैस रहेगा…..

#ChandraGrahanTime #TimeofGrahan #5July #India #China

Continue Reading

Trending