Connect with us

खेल-कूद

नशे में टल्ली इस किक्रेटर ने बना डाले 175 रन, इतिहास में आज भी दर्ज है 12 मार्च की तारीख

Published

on

नई दिल्ली। किक्रेट अनिश्चितताओं का खेल माना जाता है। इस खेल में किस क्षण बाजी पलट जाए इसकी सटीक भविष्यवाणी शायद ही कोई कर सकता है।

आज हम क्रिकेट से जुड़ा एक ऐसा वाकया आपके लिए लाए हैं जो कई वजहों से इतिहास के पन्नों में दर्ज है। दक्षिण अफ्रीका ने आज ही के दिन 13 साल पहले (12 मार्च, 2006) जोहानिसबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में इतिहास रचा था।

अफ्रीकी टीम ने वनडे इतिहास के सबसे बड़े लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करने का रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया, जिससे क्रिकेट फैंस दंग रह गए थे।

पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 434 रन बना डाले थे, जो उस वक्त का सबसे बड़ा स्कोर था। तब किसी ने सोचा नहीं होगा कि इतने बड़े स्कोर के बाद भी कोई टीम हार सकती है।

दक्षिण अफ्रीका की इस जीत के हीरो हर्शल गिब्स थे। जिन्होंने 111 गेंदों में 175 रनों की अविश्वसनीय पारी खेली। कहा जाता है कि जिस वक्त उन्होंने यह धुआंधार पारी खेली थी वह शराब के नशे में थे।

खुद गिब्स ने भी अपनी आत्मकथा में इस बात का खुलासा किया है। गिब्स ने ऑटोबायोग्राफी ‘टू द पॉइंट : द नो होल्ड्स बार्ड’ (To the point: The no-holds-barred) में बताया है कि उस मैच से पहले की रात उन्होंने काफी शराब पी थी और मैच वाले दिन वह हैंगओवर में थे।

उन्‍होंने लिखा, ‘सोने से ठीक पहले मैंने अपने होटल के कमरे से बाहर देखा कि गिब्‍स अभी भी वहां है. गिब्‍स जब सुबह नाश्‍ते के लिए आए थे, तब भी वो नशे में दिख रहे थे।’

उस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान रिकी पोंटिंग की 105 गेंदों में 164 रनों (9 छक्के, 13 चौके) की तूफानी पारी की बदौलत 434/4 रन बनाए थे। तब वनडे इतिहास में पहली बार किसी टीम ने 400 से ज्यादा का स्कोर खड़ा किया था। आखिरकार इस मैच का नतीजा हैरान कर देने वाला रहा।

साउथ अफ्रीका ने एक गेंद शेष रहते 438/9 रन बना डाले और ऑस्ट्रेलिया यह मुकाबला एक विकेट से गंवा बैठा। इस मैच के हीरो हर्शल गिब्स रहे थे जिन्होंने 21 चौके और 7 छक्के की बदौलत 175 रनों की पारी खेली थी।

उन्हें कप्तान ग्रीम स्मिथ का अच्छा साथ मिला, स्मिथ ने 55 गेंदों में 90 रन ठोके। इस मैच में दोनों ओर से कुल 87 चौके और 26 छक्के लगे थे। साउथ अफ्रीका ने यह सीरीज 3-2 से जीत ली थी।

खेल-कूद

अफगानिस्तान ने दूसरे टी-20 में वेस्टइंडीज को 41 रनों से हराया

Published

on

लखनऊ। करीम जनात (11 रन पर 5 विकेट) के कहर बरपाते स्‍पेल की बदौलत अफगानिस्तान ने लखनऊ के इकाना क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए दूसरे टी-20 मुकाबले में वेस्टइंडीज को 41 रनों से हार दिया। इसी के साथ तीन टी-20 मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है। सीरीज का अगला मुकाबला रविवार को खेला जाएगा।

इकाना अंतरराष्ट्रीय स्‍टेडियम में अफगानिस्‍तान ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 147 रन साधारण स्कोर खड़ा किया लेकिन अफगान गेंदबाजों ने अपनी धारदार गेंदबाजी से मैच का पासा पलट दिया और विंडिज को 106 रनों पर ही रोक दिया।

अफगान गेंदबाज अपने ‘घरेलू’ मैदान पर पहली बार रंग में दिखे। वेस्‍टइंडीज को पहला झटका नवीन-उल-हक ने किंग के रूप में दिया। वह 12 रन बनाकर पवैलियन लौटे। उसके बाद जनात का जलवा शुरू हुआ। उन्‍होंने 11 रन देकर पांच विकेट झटके। इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

वेस्टइंडीज की ओर से दिनेश रामदीन ने सबसे ज्यादा 24 रन बनाए। इससे पहले अफगान ओपनरों हजरतउल्‍ला जजई और रहमानउल्‍ला गुरबाज ने तेज शुरुआत करते हुए 4.2 ओवर में 42 रन जोड़े। अफगानिस्‍तान को पहला झटका रहमानुल्‍ला गुरबाज (15) के रूप में लगा।

अगली ही गेंद पर हजरतउल्‍ला जजई (15 गेंद में 26 रन) भी पवेलियन लौट गए। दोनों ओपनर के विकेट गिरने के बाद रनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा और टीम लड़खड़ा गई। तीसरे क्रम पर बल्‍लेबाजी करने आए जनात ने स्पिनर हेडन वॉल्‍श की गेंदों पर तीन चौके लगाकर रनगति को तेज किया। मगर अगले ही ओवर में होल्‍डर ने उन्‍हें एलबीडब्‍ल्यू किया।

इब्राहीम जादरान ने (11) और मोहम्‍मद नबी (03) सस्‍ते में आउट हो गए। आखिरी ओवरों में गुलबदीन नईब (18 गेंद में 24 रन) ने बड़े शॉट खेलते हुए स्‍कोर को निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 147 तक पहुंचाया। वेस्‍टइंडीज के तेज गेंदबाज विलियम्‍स ने चार ओवर में 23 रन देकर तीन विकेट लिए, जबकि होल्‍डर ने इतने ही रन देकर दो और पॉल ने 28 रन देकर दो विकेट हासिल किए।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending