Connect with us

प्रादेशिक

लखनऊ में पुलिस ही बनी डकैत, घर में घुसकर लूटे 1.85 करोड़!

Published

on

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में एक ऐसी घटना सामने आई है जिससे यूपी पुलिस की साख पर पूरी तरह से बट्टा लगा दिया है। मामला लखनऊ के गोसाईगंज का है यहां थाने का दारोगा, साथी दरोगा व अन्य पुलिसवालों के साथ छापेमारी का धौंस दिखाकर एक बिजनेसमैन के घर में घुसा और 1.85 करोड़ रुपये लूट लिए।

ये पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है। इस घटना की जानकारी मिलते ही सीनियर अधिकारियों ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आरोपी दोनों दारोगा को निलंबित कर दिया है। इस मामले में दो दारोगा, मुखबिर समेत 7 लोगों पर डकैती का केस दर्ज किया गया है। पुलिस इन दोनों दारोगा से पूछताछ कर रही है।

पुलिस के मुताबिक गोसाईंगंज थाने का दरोगा आशीष तिवारी, पुलिस लाइंस में तैनात पवन मिश्रा अपने अन्य सहयोगियों के साथ शनिवार सुबह को सरसवां के ओमेक्स सिटी में एक फ्लैट में घुस गए। इस फ्लैट में अंकित नाम के एक व्यापारी रहते हैं। इन अधिकारियों ने कहा कि वे कालेधन की जांच के लिए यहां आए हैं।

तलाशी के दौरान पुलिस को रुपयों से भरा दो बैग और अवैध पिस्टल मिली। रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने रुपयों को बैग में भरा और अपने साथ आए एक शख्स को बैग लेकर बाहर चले जाने कहा। अंकित ने कहा कि इस दौरान पुलिसवालों ने उनके साथ मारपीट भी की। इसके बाद पुलिसवालों ने आयकर विभाग को सूचना दे दी।

आयकर विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और रकम बरामद कर ली। आयकर के अधिकारियों ने छापेमारी में बरामद रुपयों को अलग से सील कर दिया। व्यापारी अंकित ने बताया कि उन्होंने अपने फ्लैट में 3.38 करोड़ रुपये रखे थे। यह रकम उन्हें बांदा में अपने खदान पर पहुंचानी थी।

अंकित का आरोप है कि इस रकम में से काफी रुपये पुलिसवालों ने लूट लिए। अंकित के मुताबिक उनके फ्लैट से बरामद हुए रुपये में से 1.85 करोड़ रुपये गायब हैं। केस की जांच के दौरान क्राइम ब्रांच ने पुलिसकर्मियों के आवास से 36 लाख रुपये बरामद किये हैं। इस मामले की जांच अभी चल रही है।

प्रादेशिक

एनडी तिवारी के बेटे रोहित की हुई थी हत्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि शेखर तिवारी की मौत प्राकृतिक नहीं थी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया है।

रिपोर्ट सामने आने के बाद शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम और वरिष्ठ अधिकारी डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पर पहुंचे थे। टीम रोहित के घर की जांच से मौत की वजह पता लगाने की कोशिश कर रही है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्व. एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ‘अप्राकृतिक मौत’ की बात सामने आई है। अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या का मामला) के तहत मामला दर्ज किया गया।

आपको बता दें कि मंगलवार को रोहित शेखर तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। तबीयत खराब होने पर शाम करीब 4 बजकर 41 मिनट पर साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया था।

जांच के बाद डॉक्टरों ने रोहित को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि 40 वर्षीय रोहित की मौत अस्पताल में लाने से पहले ही हो गई थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending