Connect with us

ऑफ़बीट

भारत के इस मंदिर पर पाकिस्तान ने गिराए हजारों बम, माता के चमत्कार पर अब तक हैरान हैं पाकिस्तानी

Published

on

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाक पर एयर स्ट्राइक कर कई आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद से ही दोनों देशों की सीमा पर तनाव बढ़ता जा रहा है।

इसी बीच हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने वाले है जहां कभी पाकिस्तान ने हजारों बम गिराए थे, लेकिन हैरानी की बात तो ये थी कि उनका एक भी बम नहीं फटा। इसके पीछे की वजह जानकर आपके होश ही उड़ जाएंगे।

राजस्थान के जैसलमेर में तनोट राय माता का मंदिर है। यहां से पाकिस्तान की सीमा महज 20 किलोमीटर दूर है। कहते हैं कि युद्ध में पाकिस्तानी सेना ने इस मंदिर के क्षेत्र में करीब 3000 बम गिराए थे, लेकिन मंदिर को कोई भी नुकसान नहीं पहुंचा।

भारतीय सेना और वहां के स्थानीय लोग इसे देवी मां का चमत्कार मानते हैं कि सभी जगह बम गिरने के बाद फटे, लेकिन इस मंदिर में एक भी बम नहीं फटा और इसे आंच तक नहीं आयी। इस घटना के बाद से ही भारतीय सीमा सुरक्षा बल तनोट माता को अपनी आराध्य देवी मानते हैं। सेना के जवान ही मंदिर की देखरेख भी करते हैं।

मंदिर परिसर में 400 से ज्यादा पाकिस्तानी बम आम लोगों के देखने के लिए रखे हुए हैं जिन्हें देखने के लिए भारी संख्या में लोग आते है। तनोट माता के इस मंदिर के रख-रखाव का काम भारतीय सीमा सुरक्षा बल ही करती है। यहां भारत-पाकिस्तान युद्ध की याद में एक विजय स्तंभ का भी निर्माण किया गया है। ये स्तंभ भारतीय सैनिकों की वीरता की याद दिलाता है।

तनोट माता का मंदिर जिस इलाके में है, वो इलाका बेहद ही संवेदनशील माना जाता है। यहां आने वाले श्रद्धालु अपने साथ अपना परिचय पत्र लेकर जरूर आते हैं, क्योंकि ऐसा न करने पर उन्हें सीमा सुरक्षा बल की कड़ी जांच का सामना करना पड़ता है।

रिपोर्ट-मानसी शुक्ला 

अन्तर्राष्ट्रीय

वाईफाई पासवर्ड चेंज होने पर भड़का शख्स, बहन के साथ किया घिनौना काम

Published

on

नई दिल्ली। 18 साल के एक लड़के को बहन की हत्या का दोषी पाए जाने के बाद अदालत ने उसे उम्रकैद की सजा सुनाई है। मामला अमेरिका के जार्जिया का है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 2 साल पहले वाईफाई पासवर्ड को लेकर हुए झगड़े में छोटे भाई ने अपनी बहन को मौत के घाट उतार दिया था।

केवन वाटकिन्स ने अपनी बहन का गला दबाकर अपनी बहन की हत्या कर दी थी। घटना के बाद निचली अदालत में दो साल इस केस पर सुनवाई हुई जिसके बाद अदालत ने आरोपी को दोषी करार दे दिया।

जानकारी के मुताबिक इंटरनेट स्पीड स्लो होने की वजह शख्स का झगड़ा उसकी मां से हो रहा था इस बीच बहन बीचबचाव में आ गई जिसके बाद लड़के को इतना गुस्सा आ गया कि उसने अपनी बहन का गला दबाकर हत्या कर दी। घटना के वक्त बहन की सगाई हो चुकी थी और उनका एक बेटा भी था। घटना के वक्त भाई की उम्र सिर्फ 16 साल थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending