Connect with us

नेशनल

खुफिया एजेंसियों का खुलासा, आतंकी आदिल अहमद डार इस तकनीक से मसूद अजहर से करता था बात

Published

on

नई दिल्ली। पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले को लेकर खुफिया एजेंसियों के हाथ अहम सुराग लगे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जांच कर रही एजेंसियों ने पाया कि हमले को अंजाम देने वाला आतंकी आदिल अहमद डार पीयर-टु-पीयर सॉफ्टवेयर के जरिए जैश-ए-मोहम्मद के सरगना से बातचीत करता था।

इस सर्विस का इस्तेमाल करने की वजह से आतंकी सर्विलांस के दायरे में आने से बच गए। आतंकियों ने पीय-टु-पीयर सॉफ्टवेयर सर्विस- YSMS या ऐसे ही मोबाइल ऐप के जरिए डार से दिसंबर 2018 तक संपर्क रखा था।

खुफिया सूत्रों के हाथ YSMS मैसेज की कॉपी मिली है। खुफिया एजेंसियों का मानना है कि ये मैसेज पुलवामा हमले के बाद किए गए हैं।

एक संदेश में लिखा गया है कि ‘जैश का मुजाहिद अपने मकसद में कामयाब हुआ’ और दूसरे संदेश में लिखा गया है, ‘भारतीय सैनिक और दर्जनों गाड़ियां हमले में खाक हो गई।’

YSMS कोड मैसेज को भेजने के लिए अल्ट्रा हाई रेडियो फ्रीक्वेंसी मॉडल का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें एक रेडियो सेट को एक फोन से अटैच किया जाता है, जिसके अंदर कोई सिम कार्ड नहीं होता है. रेडियो सेट असल में एक छोटा ट्रांसमीटर होता है जो वाई-फाई सुविधा से युक्त होता है. इस वाई-फाई से मोबाइल को कनेक्ट किया जाता है.

YSMS ऐप डार्क वेब में 2012 से उपलब्ध है. पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठनों ने एक नया संस्करण बना लिया है जो ऐसी फ्रीक्वेंसी इस्तेमाल करता है जो दिसंबर से किसी भी मॉनिटरिंग डिवाइस की पकड़ में नहीं आया है।

नेशनल

अबकी तोप और टैंक नहीं चलेंगे, परमाणु युद्ध होगा: शेख रशीद अहमद

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान के बड़बोले मंत्री शेख रशीद ने एक बार फिर भारत को परमाणु हमले की धमकी दी है। दरअसल, जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित करने से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तानी पीएम से लेकर वहां के मंत्री एक के बाद एक गैरजिम्मेदाराना और बेतुके बयान दे रहे हैं। इसी क्रम में इस बार फिर पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने एक बार फिर भारत को परमाणु हमले की धमकी दी है।

शेख रशीद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि अबकी तोप और टैंक नहीं चलेंगे, बल्कि परमाणु युद्ध होगा। रशीद ने कहा, “मैं 126 दिन धरने में शामिल था। उस वक्त मुल्क के हालात और सरहदी मामलात ऐसे नहीं थे, ये सीरियस थ्रेट है। यह जंग खौफनाक हो सकती है। जो अक्ल के अंधे ये समझ रहे हैं कि 4-6 दिन तक टैंक-तोपें चलेंगी या हवाई जहाज के अटैक होंगे और नेवी के गोले चलेंगे।” उन्होंने आगे कहा, “यह एक एटॉमिक वॉर होगा। एक न्यूक्लियर कम एटॉमिक वॉर होगा और जरूरत के मुताबिक असलहों का इस्तेमाल करेंगे।”

गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं है कि पाकिस्तान और उसके मंत्री की तरफ से ऐसी धमकियां मिली हों। शेख रशीद की गीदड़भभकी कई बार मीडिया में सुर्खियां बटोर चुकी हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending