Connect with us

प्रादेशिक

रात का समय था, बंद कमरे में पति-पत्नी ने बनाया एक वीडियो, सुबह घरवालों ने देखा लिया और पूरा हिल गए

Published

on

खुशहालपुर मठेरी

उत्तर प्रदेश से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे पढ़ कर कोई भी परिवार हिल जाए। प्रदेश के बिजनौर में खुशहालपुर मठेरी के पती-पत्नी ने आत्महत्या कर लिया। इससे पहले दोनों ने एक वीडियो भी बनाया और चिप छोड़ गए। मौत का जिम्मेदार दोनों ने एक युवक मोनू पर लगाया है।
दोनों ने बताया कि मोनू और उसके कुछ साथी बेवजह सोनम यानी युवक की पत्नी को बदनाम कर रहे थे। इसी बदनामी के डर से दोनों ने अत्महत्या कर रहे हैं। सुबह जब घरवालों ने इस क्लिप को देखा तो सब हिल सा गए। वीडियो के आखिरी में दोनों ने हाथ जोडकर घरवालों को राम-राम भी कहा।

फिलहाल पुलिस ने क्लिप को हिरासत में ले लिए है और गुनहगारों की तलाश जारी कर दी है।

प्रादेशिक

UP Board Result: परिणामों को लेकर सामने आई बड़ी जानकारी, जानने से पहले भगवान को कर लें याद

Published

on

लखनऊ। यूपी बोर्ड के कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं परिणाम को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लोकसभा चुनाव के दौरान ही बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे।

मिली जानकारी के मुताबिक यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के परिणाम 20 अप्रैल तक जारी किए जा सकते हैं। फिलहाल अभी उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का काम चल रहा है वहीं आधे से ज्यादा जिलों में कॉपी चेक करने का काम पूरा हो चुका है।

यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने स्कूलों के सभी जिला निरीक्षकों (DIoS) को इस संबंध में एक निर्देश जारी कर दिया है और उन्हें 25 मार्च तक दोनों कक्षाओं की परीक्षाओं की सभी उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन सुनिश्चित कर लेने को कहा है।

आपको बता दें,  यूपी बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं की मूल्यांकन प्रक्रिया जो 8 मार्च को शुरू हो गई थी, उन्हें 15 दिनों के भीतर 23 मार्च को पूरा किया जाना था, लेकिन दो दिन की होली की छुट्टी के कारण, अब यह तारीख 2 दिन आगे बढ़ा दी गई है।

यहां यूपी बोर्ड मुख्यालय के सूत्रों ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मऊ, बिजनौर, मिर्जापुर, सुल्तानपुर, बाराबंकी, प्रतापगढ़ आदि सहित राज्य के कई जिलों में उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूरा हो चुका है, जबकि राज्य के शेष जिलों में उत्तर पुस्तिकाओं का लगभग 95 प्रतिशत मूल्यांकन किया गया है।

जल्द वह भी पूरा होने के कगार पर है। यूपी बोर्ड के सचिव के अनुसार 25 मार्च तक मूल्यांकन पूरा करने के प्रयास किए जा रहे थे ताकि बोर्ड के अधिकारी एक महीने के भीतर परिणाम तैयार कर सकें।

बोर्ड के रिकॉर्ड के अनुसार, 230 मूल्यांकन केंद्रों पर कुल 3.20 करोड़ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जा रहा है, जिनमें 10वीं परीक्षा के 1.90 करोड़ उत्तर पुस्तिका 79,064 शिक्षकों द्वारा मूल्यांकन किए जा रहे हैं, और 45,732 शिक्षकों के लिए 12वीं परीक्षाओं की 1.30 करोड़ उत्तर पुस्तिकाएं जांची जा रही हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending