Connect with us

नेशनल

पूरे देश में तेजी से फैल रहा है स्वाइंग फ्लू, बचाव के हैं ये 6 बेहतरीन तरीके

Published

on

नई दिल्ली। देशभर में स्वाइन फ्लू तेजी से अपने पांव पसार रहा है। इस बीमारी ने अब तक 250 लोगों की जान ले ली है। पिछले तीन दिनों में ही मृतकों की संख्या 30 तक पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों की मानें तो बृहस्पतिवार तक राजस्थान में इस बीमारी से सबसे अधिक 96 मौत हुई हैं। इसके बाद गुजरात में 54 लोगों की जान जा चुकी है।

पंजाब में 300 से अधिक लोग इस खतरनाक वायरस की की चपेट में हैं जबकि करीब 30 लोग इस गंभीर बीमारी की वजह से दम तोड़ चुके हैं। दिल्ली में स्वाइन फ्लू तेजी से फैल रहा है। दिल्ली में अब तक कुल 1409 मामले सामने आ चुके हैं जिनमे 6 लोगों की मौत हो चुकी है। हरियाणा में 589 लोग इस जानलेवा बीमारी की चपेट में है जबकि इस बीमारी से दो लोगों की मौत हो चुकी है।

केंद्र सरकार ने प्रभावित राज्यों से बीमारी का शीघ्र पता लगाने के लिए निगरानी बढ़ाने को कहा है। साथ ही अस्पतालों में वेंटिलेटर सुविधा के साथ ही बेड रिजर्व रखने की बात कही है। स्वाइन फ्लू  जिस तेजी भारत में अपने पांव पसार रहा है इससे बचने की लिए आप कुछ आयुर्वेदिक  नुस्खे अपना सकते हैं।

स्वाइन फ्लू से बचने के बेहतरीन तरीके

  1. अगर आप इसके शिकार है तो दोनों तरह से धुली हुई तुलसी की पत्तियाँ रोज सुबह लें। तुलसी में खुद का अपना अलग ही एक चिकित्सीय गुण है। यह व्यक्ति के गले और फेफड़े को साफ रखता है और साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर संक्रमण से भी बचाता है।

    2. गिलोय –  गिलोई यहां इंडिया के कई क्षेत्रों में सामान्य रूप से मिल जाता है | गिलोई की एक फुट लंबी शाखा लेकर इसमें तुलसी की 5 से 6 पत्तियाँ मिलाकर इसे 15 से 20 मिनट तक उबाल लें, और तब तक उबाले जब तक कि इसके तत्व ना घुल जाएँ। इसे ठंडा होने दें और गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करें।

    3 . कपूर – कपूर भी एक घरेलू नुस्खा जय और ये भी स्वाइन फ्लू से बचाने में लोगों की बहुत मदद करता है। इसके लिए गोली के आकार का एक कपूर का टुकड़ा महीने में एक या दो बार गरम या गुनगुने पानी के साथ निगल सकते हैं।

    4. गुनगुना दूध : स्वाइन फ़्लू से बचने के लिए रोज़ाना रात को गुनगुने दूध में हल्दी डालकर पीने से भी आराम मिलता है।

    5. नीम : यह नुस्खा तो बहुत सारी बीमारियों से लड़ने में कारगर साबित होता है। इसके लिए आपको रोज़ाना नीम की 3 से 5 पत्तियां चबानी पड़ेंगी जिससे खून भी साफ रहता है और स्वाइन फ्लू का खतरा भी काम हो जाता है ।

    6 . विटामिन सी – स्वाइन फ़्लू से बचने के लिए खट्टे फल और Vitamin C से भरपूर आंवला जूस आदि का सेवन करें। चूंकि आंवले का juice हर महीने नहीं मिलता है ऐसे में आप पैक्ड आंवला जूस भी ले सकते हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय

इस मुस्लिम देश के पहाड़ पर दिखे ‘भगवान राम’, देखें तस्वीर

Published

on

नई दिल्ली। इराक गए भारतीय प्रतिनिधिमंडल को दो हजार ईसा पूर्व के भित्तिचित्र मिले हैं। इस भित्तिचित्र को लेकर अयोध्या शोध संस्थान का दावा है कि ये भगवान राम की छवि है।

भगवान राम का ये भित्तिचित्र इराक के होरेन शेखान क्षेत्र में संकरे मार्ग से गुजरने वाले रास्ते पर दरबंद-ई-बेलुला चट्टान में मिला है। इस चित्र में एक राजा को दिखाया गया है, जिसने धनुष पर तीर ताना हुआ है।

उनकी कमर के पट्टे में एक खंजर या छोटी तलवार लगी है। इसी चट्टान में एक और छवि भी है, जिसमें एक शख्स हाथ मुड़े हुए दिख रहा है। अयोध्या शोध संस्थान के निदेशक योगेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि ये भगवान हनुमान की छवि है।

वहीं इराक के विद्वानों का कहना है कि ये भित्तिचित्र पहाड़ी जनजाति के प्रमुख टार्डुनी का है। भारतीय राजदूत प्रदीप सिंह राजपुरोहित की अगुआई में ये प्रतिनिधिमंडल इराक गया था। जिसके लिए संस्कृति विभाग के अंतर्गत आने वाले अयोध्या शोध संस्थान ने अनुरोध किया था।

प्रदीप सिंह का दावा है कि इन चित्रों से पता चलता है कि भगवान राम सिर्फ कहानियों में नहीं थे क्योंकि ये निशान उनके प्रत्यक्ष प्रमाण हैं। भारतीय और मेसोपोटामिया संस्कृतियों के बीच संबंध का विस्तृत अध्ययन करने के लिए भी इस प्रतिनिधिमंडल ने चित्रमय प्रमाण भी एकत्रित किए हैं।

वहीं इराक के इतिहासकार अयोध्या शोध संस्थान की  बातों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। उनका कहना है कि वे इस चित्र को भगवान राम से जुड़ा नहीं मानते हैं।

उनका कहना है कि ये साबित करने के लिए गायब लिंक को खोजना जरूरी है। उनका कहना है कि उन्होंने शोध के लिए इराक की सरकार से अनुमति मांगी है। अनुमति मिलने के बाद सभी कड़ियों को जोड़ने का काम किया जाएगा।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending