Connect with us

गैजेट्स

जल्द आने जा रहा है Jio का बेहद सस्ता स्मार्टफोन, दाम जानकर उड़ जाएंगे होश!

Published

on

नई दिल्ली। स्मार्टफोन के मामले में भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल बाजार है, यही वजह है कि ढ़ेरों स्मार्टफोन कंपनियां यहां हर रोज कोई न कोई फोन सस्ते दाम पर बाजार में उतार देती हैं।

बाजार में पहले से मौजूद ढेरों कंपनियों के बीच अब रिलायंस जियो भी स्मार्टफोन के मार्केट में कदम रखने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जियो फोन और जियो फोन 2 के बाद कंपनी जल्द ही एक नया स्मार्टफोन लॉन्च करने की तैयारी में है।

मिली जानकारी के मुताबिक इस स्मार्टफोन को जुलाई में AGM के दौरान लॉन्च किया जा सकता है। BeetelBite न्यूज वेबसाइट से बात करते हुए एक जियो के अधिकारी ने बताया कि कंपनी इस साल जुलाई में AGM के दौरान एंड्रॉयड बेस्ड स्मार्टफोन लॉन्च कर सकती है।

इस रिपोर्ट में ये भी जानकारी दी गई है कि इस स्मार्टफोन में 5-इंच टचस्क्रीन डिस्प्ले होगा और ये एंड्रॉयड ओरियो (गो एडिशन) पर चलेगा। साथ ही ये स्मार्टफोन JioPhone 2 से भी महंगा होगा और इसकी कीमत $63 (लगभग 4,500 रुपये) के आसपास होगी।

फिलहाल जियो के नए स्मार्टफोन के चिपसेट की जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन इसमें 2GB रैम और 64GB स्टोरेज दिया जा सकता है। साथ ही यहां मेमोरी कार्ड के लिए भी सपोर्ट दिया जा सकता है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक यहां फोटोग्राफी के लिए 5 मेगापिक्सल रियर कैमरा और फ्रंट में सेल्फी के लिए 2 मेगापिक्सल का कैमरा दिया जा सकता है।

JioPhone 3 अगर लॉन्च होता है तो इसका मुकाबला एंड्रॉयड गो बेस्ड Samsung Galaxy J2 Core (गो एडिशन) और भारत में जल्द लॉन्च होने वाले Redmi Go स्मार्टफोन से रहेगा।

 

गैजेट्स

TikTok फैंस के लिए खुशखबरी! जल्द हट सकता है Ban, SC ने दिया यह बड़ा फैसला

Published

on

विश्व का सबसे बड़ा सोशिकाल मीडिया प्लेटफार्म टिक टॉक को हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने मद्रास हाई कोर्ट की याचिका पर बैन कर दिया था। याचिका के मुताबिक टिक टॉक कुछ ऐसी वीडियोस का इस्तेमाल किया गया है जिसमे एडल्ट कंटेंट है जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने टिक टॉक पर रोक लगा दी और प्ले स्टोर और एप्पल से इसे हटाने का आदेश दे दिया। सोमवार को मद्रास उच्च न्यायालय को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर उच्च न्यायालय 24 अप्रैल कर वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप पर विचार कर फैसला नहीं करता तो उस पर लगा अंतरिम बैन हट जाएगा।
अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने अदालत से कहा कि उनकी और विशेषज्ञों की दलील सुने बिना फैसला नहीं दिया जा सकता था, जिसके बाद शीर्ष न्यायालय ने यह आदेश दिया है।शीर्ष न्यायालय ने कहा कि अगर उच्च न्यायालय अगले दो दिनों में मामले पर विचार कर आदेश पारित नहीं करता है तो ऐप पर लगी अंतरिम रोक हट जाएगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending