Connect with us

गैजेट्स

जियो का नया धमाका, अब सिर्फ 19 रुपए में पाएं इंटरनेट-फ्री कॉलिंग और बहुत कुछ!

Published

on

नई दिल्ली। साल 2015 में जियो के टेलीकॉम सेक्टर में आने के बाद लगभग सभी कंपनियों घाटे में आ गई हैं। इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह है जियो के सस्ते डाटा प्लान। जहां एक ओर दूसरी कंपनियां हर महीने लोगों से वैलिडिटी के लिए पैसे वसूल कर रही हैं, वहीं जियो लगातार ग्राहकों के लिए सस्ते प्लान्स ला रही है।

आज हम आपको रिलायंस के 100 रुपए से भी कम के प्लान के बारे में बताने जारे हैं। जिससे आप कम दाम फ्री कॉलिंग, इंटरनेट और एसएमएस की सुविधा उठा सकते हैं।

19 रुपए का प्लान: अगर आपके पास भी जियो का सिम है तो आप 19 रुपए वाले प्लान से एक दिन के लिए इंटरनेट, कॉलिंग और मैसेज का लाभ उठा सकते हैं।

इसमें ग्राहकों को 0.15GB और किसी भी नंबर पर अनलिमिटेड कॉलिंग का लाभ मिलता है। इसके अलावा इसमें ग्राहकों को 20 मैसेज भी फ्री मिलते हैं। इस प्लान की वैलिडिटी 1 दिन की होती है।

52 रुपए का प्लान: इस प्लान में रोजाना 2GB इंटरनेट डेटा मिलता है। इसके अलावा इस प्लान में यूजर्स को अनलिमिटेड कॉलिंग का लाभ मिलता है। इतना ही नहीं इसमें जियो यूजर्स को 300 मैएसेज का लाभ मिलेगा। बता दें कि इस प्लान की वैलिडिटी 28 दिन की है।

98 रुपए का प्लान:  इस प्लान में रोजाना 2GB इंटरनेट डेटा मिलता है। इसके अलावा इस प्लान में यूजर्स को अनलिमिटेड कॉलिंग का लाभ मिलता है। इतना ही नहीं इसमें जियो यूजर्स को 300 मैएसेज का लाभ मिलेगा। बता दें कि इस प्लान की वैलिडिटी 28 दिन की है।

 

गैजेट्स

TikTok फैंस के लिए खुशखबरी! जल्द हट सकता है Ban, SC ने दिया यह बड़ा फैसला

Published

on

विश्व का सबसे बड़ा सोशिकाल मीडिया प्लेटफार्म टिक टॉक को हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने मद्रास हाई कोर्ट की याचिका पर बैन कर दिया था। याचिका के मुताबिक टिक टॉक कुछ ऐसी वीडियोस का इस्तेमाल किया गया है जिसमे एडल्ट कंटेंट है जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने टिक टॉक पर रोक लगा दी और प्ले स्टोर और एप्पल से इसे हटाने का आदेश दे दिया। सोमवार को मद्रास उच्च न्यायालय को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर उच्च न्यायालय 24 अप्रैल कर वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप पर विचार कर फैसला नहीं करता तो उस पर लगा अंतरिम बैन हट जाएगा।
अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने अदालत से कहा कि उनकी और विशेषज्ञों की दलील सुने बिना फैसला नहीं दिया जा सकता था, जिसके बाद शीर्ष न्यायालय ने यह आदेश दिया है।शीर्ष न्यायालय ने कहा कि अगर उच्च न्यायालय अगले दो दिनों में मामले पर विचार कर आदेश पारित नहीं करता है तो ऐप पर लगी अंतरिम रोक हट जाएगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending