Connect with us

नेशनल

शारदा चिटफंड मामले में सीबीआई को बड़ा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- पहले…

Published

on

नई दिल्ली। शारदा चिटफंड घोटाले पर ममता सरकार और केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के बीच टकराव के बाद अदालत पहुंची देश की सबसे बड़ी एजेंसी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है।

सर्वोच्च अदालत ने इस मामले में तुरंत सुनवाई से मना कर दिया है। उच्चतम न्यायालय का कहना है कि अगर कोलकाता के पुलिस कमिश्नर के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं तो वह कार्रवाई करने को तैयार हैं। कोर्ट ने सीबीआई से कहा है कि कमिश्नर अगर दोषी हैं तो अदालत में पहले सबूत पेश करें, उनपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट में अब इस मामले की सुनवाई मंगलवार को की जाएगी।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अगर कोलकाता पुलिस कमिश्नर किसी तरह के सबूत मिटाने की सोचते भी हैं तो उन्हें पछतावा होगा। आप इस मुद्दे पर सबूत पेश करें। सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई की ओर से सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि हमने अर्जी लगाई है कि मुकदमे के सबूत नष्ट किए जा रहे हैं। इस दलील पर सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों से सबूत पेश करने की बात कही है।

सीबीआई ने अपनी याचिका में लिखा है कि पश्चिम बंगाल सरकार और पुलिस उनकी जांच में सहयोग नहीं कर रही है। उन्होंने ये भी दावा किया है कि दोनों ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना कर रहे हैं।

आपको बता दें कि कोलकाता में रविवार शाम हाई प्रोफाइल ड्रामा चला। इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब सबसे बड़ी जांच एजेंसी के 5 अफसरों को किसी राज्य की पुलिस ने हिरासत में लिया हो। हालांकि कुछ देर बाद उन्हें रिहा कर दिया गया। वहीं पूरे सीबीआई दफ्तर की भी पुलिस ने घेराबंदी कर दी। बाद में सीआईएसएफ को वहां तैनात कर दिया गया।

 

नेशनल

निगमबोध घाट पर पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली

Published

on

नई दिल्ली। पूर्व वित्तमंत्री  अरुण जेटली रविवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। निगमबोध घाट पर दोपहर तीन बजे उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया है।

अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को एम्स में 66 वर्ष की आयु में निधन हो गया। 9 अगस्त को जेटली को एम्स में भर्ती कराया गया था। उनके निधन से राजनीतिक जमात में शोक की लहर है।

आज दिल्ली के निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर उनके बेटे रोहन ने उन्हें मुखाग्नि दी है। इस मौके पर गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत बीजेपी के तमाम बड़े नेता निगमबोध घाट पर मौजूद हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending