Connect with us

नेशनल

उत्तर प्रदेश से अमित शाह ने भरी हुंकार, महागठबंधन पर तंज कसते हुए कहा-अगर ये सरकार आई…

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को उत्तर प्रदेश से चुनावी हुंकार भर दी है। शाह ने कानपुर में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी ही देश को मजबूत सरकार दे सकते हैं।

उन्होंने कहा कि 2014 में भी विजय शंखनाद रैली की शुरूआत उत्तर प्रदेश से ही हुई थी और बीजेपी ने प्रचंड बहुमत से सरकार बनाई थी। उन्होंने कहा कि इस बार भी पीएम मोदी का रास्ता लखनऊ से ही होकर गुजरने वाला है।

कार्यक्रम के दौरान शाह ने राम मंदिर पर खुलकर बात की। उन्होंने कहा कि मंदिर जल्द से जल्द बने उसके लिए भारतीय जनता पार्टी कटिबद्ध है लेकिन कांग्रेस नहीं चाहती है कि भव्य राम मंदिर का निर्माण हो। अमित शाह ने महागठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि अगर केंद्र में गठबंधन की सरकार आई तो हर हफ्ते प्रधानमंत्री बदलते रहेंगे।

शाह ने आगे कहा- सर्जिकल स्ट्राइक से हमारी सरकार ने आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। सभा में शाह सपा बसपा और कांग्रेस पर जमकर बरसे। यूपी का गठबंधन मोदी जी के खिलाफ है इससे पहले भी गठबंधन हुआ था। चाहे तो चारो दल गठबंधन करले लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ही प्रधानमंत्री बनेंगे यह गठबंधन भ्रष्टाचार और जातिवाद का है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए शाह ने कहा राहुल बाबा पूछते हैं मोदी सरकार ने क्या-क्या किया है तो हम बता दें कि मोदी सरकार ने गंगा को निर्मल करने का काम किया है। उन्होंने कहा गठबंधन और महा गठबंधन का कोई पीएम प्रत्याशी नही है। यह सिर्फ बुआ, भतीजे, भाई और बहन का गठबंधन है।

उन्होंने कहा, इससे पहले यूपी की जनता ने सपा-बसपा का गुंडाराज देखा है।आज योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपराधियों को प्रदेश से पलायन करने के लिए मजबूर कर दिया। यह सरकार कोई एक जाति की नही है यह सरकार सबकी है

इस बार भी चुनाव की शुरुवात कानपुर से बूथ सम्मेलन के साथ कर रहा हूँ। उन्होंने कहा कि बीजेपी की बढ़ती लोकप्रियता के चलते सपा और बसपा का गठबंधन हुआ है। मुझे भरोसा है जब योगी के नेतृत्व में निकलेगे तो जीत पक्की है। मैं योगी को साधुवाद देता हूं कि यूपी को अपराध मुक्त बनाया है। आज अपराधी खुद गिरफ्तार होने के लिए घूम रहा है।

रैली को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्य नाथ ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को कुम्भ में आने का निमंत्रण दिया है। सीएम योगी ने कहा भाजपा सरकार ने पौने दो साल में शहरी और ग्रामीण इलाकों में पीएम आवास योजना के तहत लोगों को आवास उपलब्ध करवाए हैं।

हमने 6 करोङ नागरिकों को 5 लाख स्वास्थ बीमा देने का काम किया है। केन्द्र सरकार ने घर-घर शौचालय दिए हैं। इतना ही नहीं बीजेपी की सरकार में 450 साल बाद कुंभ मे अक्षय वट के दर्शनों का सौभाग्य भक्तों को प्राप्त हुआ है। कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के बूथ अध्यक्ष सम्मेलन में कहा जब हम 2014 में बूथ मैनेजमेंट के तहत प्रचंड बहुमत मिला था।

आध्यात्म

आज लगने जा रहा सदी का सबसे बड़ा चंद्रग्रहण, दुष्प्रभावों से बचने के लिए करें ये उपाय

Published

on

नई दिल्ली। सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण आज यानि मंगलवार को लगने जा रहा है। इस बार चंद्र ग्रहण पर जो दुर्लभ योग बन रहा है वैसा आज से 149 साल पहले बना था।

12 जुलाई, 1870 को गुरू पुर्णिमा के दिन ही चंद्रग्रहण लगा था। चंद्रग्रहण को लेकर धार्मिक मान्यताएं हैं कि इससे लोगों पर भी गहरा प्रभाव पड़ता है।

इन प्रभावों से बचने के लिए लोगों की राशियों के हिसाब से कुछ उपाए बताए गए हैं जिससे ग्रहण से होने वाले नुकसान से आप बच सकते हैं।

मेष राशि-
मेष राशि वाले ग्रहण के बाद लाल कपड़ा/लाल मसूर की दाल/ सबूत हल्दी आदि का दान करें. ग्रहण काल के बाद किसी निर्धन को खाना भी खिलाएं। ऐसा करने से आपके मन की इच्छाएं जरूर पूरी होंगी।

वृषभ राशि-
वृषभ राशि वाले ग्रहण के बाद हल्के गुलाबी कपड़े और साबुत चावल का दान करें। ग्रहण काल के बाद किसी गौशाला में गाय को चारा खिलाएं। ऐसा करने से आपकी सेहत से जुड़ी समस्या दूर होंगी।

मिथुन राशि-
मिथुन राशि वाले कम से कम 5 गायों को हरा चारा खिलाएं। हरी मूंग, हरे कपड़े का दान करें. ग्रहण काल के बाद किसी किन्नर को खाना खिलाएं. भाई बहन में आपसी प्यार बढ़ेगा।

कर्क राशि-
कर्क राशि वाले लोग चंद्र ग्रहण के बाद जरूरतमंद लोगों को सफेद कपड़े का दान करें। शिव के मंत्र का जाप करते रहे. ऐसा करने से आपका मानसिक तनाव दूर होगा।

सिंह राशि-
सिंह राशि वाले सभी लोग चंद्र ग्रहण के दौरान गायत्री मंत्र का 108 बार जाप करें। गेहूं, गुड़ और कपड़ों का दान करें. इससे आपके दांपत्य जीवन में मधुरता आएगी।

कन्या राशि-
कन्या राशि वाले सभी लोग चंद्र ग्रहण के दौरान अपने माता पिता की सेवा करें। जरूरतमंद लोगों को खिचड़ी आदि का दान करें। इससे आपके घर में मां लक्ष्मी का आगमन होगा।

तुला राशि-
तुला राशि वाले सभी लोग ग्रहण काल के दौरान श्री सूक्त का 11 बार पाठ करें। ग्रहण के बाद सफेद चावल, वस्त्र, मिश्री तथा खिचड़ी जरूरतमंद लोगों को दान करें। इससे आपके प्रोपर्टी के विवाद हमेशा के लिए खत्म होंगे।

वृश्चिक राशि-
वृश्चिक राशि वाले सभी लोग ग्रहण काल के दौरान हनुमान चालीसा का तथा बजरंग बाण का पाठ करें। ग्रहण के बाद कम से कम 11 लोगों को मीठा दलिया दान करें। ऐसा करने से आपको ईश्वर की मदद मिलेगी, नौकरी व्यापार की समस्या खत्म होगी।

धनु राशि-
धनु राशि वाले सभी लोग ग्रहण काल के दौरान विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। ग्रहण के बाद गाय को केला खिलाएं। हल्दी का दान करें.जरूरतमंद लोगों में कपड़ों का दान करें। इससे आपके पारिवारिक वाद-विवाद खत्म होंगे।

मकर राशि-
मकर राशि के सभी लोग ग्रहण काल के दौरान सुंदरकांड का पाठ करें। ग्रहण के बाद जरूरतमंद लोगों को तिल के लड्डू का दांन करें। पीपल के वृक्ष में जल चढ़ाएं. नौकरी की समस्या खत्म होगी।

कुंभ राशि-
कुंभ राशि के सभी लोग ग्रहण काल के दौरान हनुमान बाहुक का 3 बार पाठ करें। ग्रहण के बाद तिल के लड्डू के साथ साथ अन्न का भी दान करें। पीपल के पेड़ के नीचे दिया जलाएं। इससे व्यापार की समस्या खत्म होगी।

मीन राशि-
मीन राशि के सभी लोग ग्रहण काल के दौरान 3 बार नारायण स्तोत्र का पाठ करें। ग्रहण के बाद गाय को केला गुड़ खिलाएं. इससे मित्रों के आपसी वाद विवाद खत्म होंगे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending