Connect with us

लाइफ स्टाइल

कैंसर को जड़ से खत्म कर देगी ये पैंसिल, तीन मिनट में ही दिखने लगेगा असर!

Published

on

नई दिल्ली। अब पेंसिल के जरिए कैंसर और ट्यूमर जैसी खतरनाक बीमारी को आसानी से ठीक किया जा सकेगा। जी हां आपने सही सुना, इस नई तकनीक के जरिए शरीर में मौजूद कैंसर सेल्स या ट्यूमर को नष्ट किया जा सकेगा।

इस नई तकनीक का नाम पेंसिल बीम थेरेपी है। पेंसिल बीम थेरेपी से मरीज को रेडिएशन के दुष्प्रभाव से भी बचाया जा सकता है। करीब 10 तरह के कैंसर को खत्म करने वाली इस रेडियोथेरेपी को भारत में पहली बार चेन्नई के अपोलो प्रोटोन सेंटर में शुरू किया गया है।

सेंटर के निदेशक डॉ. राकेश जलाली ने बताया कि प्रोटोन पद्धति के तहत पीबीएस कैंसर के लिए वरदान है। कई मरीजों में ट्यूमर के दुर्लभ आकार और हड्डियों के नजदीक होने के कारण रेडिएशन के दौरान शरीर के बाकी हिस्से को नुकसान होता है। पेंसिल बीम से इसे रोका जा सकता है।

डॉ. जलाली ने बताया कि यह एकदम चित्रकारी जैसा अनुभव है। जिस तरह किसी चित्र में पेंसिल के जरिये शेड दिया जाता है, उसी तरह ट्यूमर पर पेंसिल धीरे-धीरे रेडिएशन का शेड देती है।

आमतौर पर कैंसर मरीज को कीमो में बाल झड़ने और तड़प वाली पीड़ा होती है। रेडियोथेरेपी में उसकी त्वचा जल जाती है और असहनीय पीड़ा होती है, जबकि प्रोटोन थेरेपी इन सभी दुष्प्रभावों से मुक्त है।        

एम्स के एक वरिष्ठ प्रोफेसर ने बताया कि स्तन, यूट्रस, नाक-गला-स्कल, लिवर, फेफड़ा, बाल, प्रोस्टेट, रीढ़ की हड्डी, पेट कैंसर और लिम्फोमा के इलाज में पेंसिल थेरेपी कारगर है।

इसका रेडिएशन केवल ट्यूमर पर पड़कर उसके सेल्स खत्म करता है। डॉक्टरों के मुताबिक ट्रीटमेंट के तीन मिनट के अंदर ही इसका असर दिखना शुरू हो जाता है।

इस थेरेपी से मरीज का समय बचता है साथ ही खर्च भी कम लगता है। जल्द ही इसे राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (झज्जर) में भी उपलब्ध कराने की तैयारी चल रही है।

लाइफ स्टाइल

अगर रात में नहीं आती है नींद तो अपनाए ये आयुर्वेदिक तरीके, पलभर में आ जाएगी नींद!

Published

on

By

21वीं शताब्दी में जहां एक ओर मानव जाति का तेजी से विकास हो रहा है वहीं लोगों के आखों से नींद भी दूर होती चली जा रही है। साल 2020 आते-आते दुनिया में लगभग करोड़ो लोग नींद न आने की समस्या से परेशान हो चुके थे। नींद न आने की वजह स्मार्टफोन को भी माना जा सकता है।

नींद न आने की कई वजहें हो सकती हैं जैसे तनाव या काम का प्रेशर। लेकिन अगर आपके साथ यह दिक्कत काफी समय से है तो आपको इनसोमनिया की शिकायत हो सकती है।

आपको बता दें कि इनसोमनिया एक ऐसी बीमारी है, जिसमें व्यक्ति को नींद नहीं आती है और पूरी रात बिस्तर पर करवटें बदलते कट जाती है।

नींद पूरी न होने की व्यक्ति के सिर में दर्द और आंखों में जलन जैसी शिकायत रहती है। आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिसे आपनाने से नींद न आने की समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

  1. गुनगुने पानी से नहाएं-एक लंबे थकान भरे दिन के बाद, गुनगुने पानी से नहाने से आपको सिर्फ रिलेक्स ही महसूस नहीं होता है, बल्कि नींद भी अच्छी आती है। सोने से करीब 2 घंटे पहले गुनगुने पानी से नहाएं, ताकि सोते समय आपकी बॉडी का टेंपरेचर नॉर्मल हो जाए. इससे आपको नींद अच्छी आएगी।

 

  1. लैवेंडर का तेल-लैवेंडर का तेल मूड को बेहतर करने और अच्छी नींद के लिए जाना जाता है. इसके लिए अपनी हथेली में लैवेंडर के तेल की कुछ बूंदें लेकर सूंघने से नींद अच्छी आती है।

 

  1. गर्म दूध और शहद-सदियों से गर्म दूध के साथ शहद का सेवन किया जा रहा है. गर्म दूध में शहद मिलाकर पीने से अच्छी नींद आती है. दूध में अमीनो एसिड ट्रिप्टोफैन पाया जाता है, जो नेचुरल तरीके से व्यक्ति को शांति और सुकून का एहसास कराता है।

 

  1. हर्बल चाय-रात को सोने से पहल हर्बल चाय पीने से कई फायदे होते हैं. इसके सेवन से शरीर को शांति मिलती है और आपको आसानी से नींद आ जाती है।

 

  1. मैग्नीशियम-अच्छी सेहत के लिए मैग्नीशियम मिनरल बहुत अहम होता है. ये मांसपेशियों को रिलेक्स करता है, साथ ही तनाव को भी कम करता है. कई स्टडी की रिपोर्ट में भी ये साबित हो चुका है कि मैग्नीशियम व्यक्ति की स्लिप साइकल को बेहतर करता है, जिससे नींद अच्छी आती है।

सोने से पहले ना करें ये गलतियां-

– सोने से पहले कैफिन, अल्कोहल का सेवन ना करें।

– रात के समय हमेशा हल्का खाना ही खाएं।

– रात का खाना हमेशा सोने से 2 घंटे पहले खाएं।

– सोने से पहले टीवी या मोबाइल के इस्तेमाल से बचें।

 

#health #sleep #dailyhabits #healthcare

Continue Reading

Trending