Connect with us

प्रादेशिक

हेडमास्टर ने स्कूल के खाली कमरे में किया दूसरी की छात्रा से दुष्कर्म, खून से सनी पहुंची घर

Published

on

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश कृष्णा जिले से दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 42 साल के हेडमास्टर को कथित तौर पर दूसरी कक्षा की छात्रा से दुष्कर्म करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

घटना मंगलवार की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हेडमास्टर बच्ची को पहले बहला फुसलाकर खाली कमरे में ले गया और दुष्कर्म किया।

यह स्कूल हैदराबाद से 295 किलोमीटर दूर है। बच्ची अपने घर पहुंची तो उसके कपड़े खून से सने थे। पीड़ित छात्रा ने रोते हुए मां से पूरी बात बताई।

जिसके बाद उसे निजी अस्पताल इलाज के लिए ले जाया गया। इलाके के दौरान डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न हुआ है।

हालांकि बच्ची के माता-पिता ने घटना की रिपोर्ट नहीं लिखवाई क्योंकि उन्हें बच्ची और अपने लिए संभावित नतीजों का डर था।

सामाजिक कार्यकर्ताओं को जब इस घटना के बारे में पता चला तो उन्होंने मासूम की मां को पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने के लिए मनाया।

जिसके बाद गुरुवार को शिकायत दर्ज हुई। आंध्र प्रदेश की मानव संसाधन विकास मंत्री गंता श्रीनिवास ने इस घटना का संज्ञान लिया है।

श्रीनिवास ने स्कूल के कमिश्नर को हेडमास्टर को निलंबित करने और घटना की जांच करने का भी आदेश दिया है। जिला शिक्षा अधिकारी एमवी राज्य लक्ष्मी ने कहा, ‘तुरंत प्रभाव से आरोपी को सेवा से निलंबित कर दिया गया है। इस मामले में विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।’

प्रादेशिक

एनडी तिवारी के बेटे रोहित की हुई थी हत्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि शेखर तिवारी की मौत प्राकृतिक नहीं थी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया है।

रिपोर्ट सामने आने के बाद शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम और वरिष्ठ अधिकारी डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पर पहुंचे थे। टीम रोहित के घर की जांच से मौत की वजह पता लगाने की कोशिश कर रही है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्व. एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ‘अप्राकृतिक मौत’ की बात सामने आई है। अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या का मामला) के तहत मामला दर्ज किया गया।

आपको बता दें कि मंगलवार को रोहित शेखर तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। तबीयत खराब होने पर शाम करीब 4 बजकर 41 मिनट पर साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया था।

जांच के बाद डॉक्टरों ने रोहित को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि 40 वर्षीय रोहित की मौत अस्पताल में लाने से पहले ही हो गई थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending