Connect with us

प्रादेशिक

ऑपरेशन थिएटर में नर्स को ले जाकर डॉक्टर कर रहा था किस, वीडियो हुआ वायरल!

Published

on

भोपाल। मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां जिला चिकित्सालय में एक सिविल सर्जन को सहकर्मी नर्स से किस करने के मामले में रविवार को पद से हटा दिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिविल सर्जन और नर्स के वायरल होने के बाद कलेक्टर ने तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपी डॉक्टर को निलंबित कर दिया।

पूरे मामले में उज्जैन जिले के कलेक्टर शशांक मिश्रा ने बताया, ‘ऑपरेशन थिएटर में किस करने की घटना किसी भी अधिकारी के लिए उचित नहीं है। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद मैंने मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला चिकित्सालय में पदस्थ सिविल सर्जन डॉ. राजू निदारिया को पद से हटा दिया है।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘डॉ. राजू निदारिया को पद से हटाने के बाद नोटिस जारी किया गया है। उनकी जगह डॉ. पीएन वर्मा को नियुक्त किया गया है। निदारिया पिछले दो दिनों से छुट्टी पर हैं। उनका जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।’

जिला अस्पताल में हुई इस घटना को गंभीरता से लेते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मोहन मालवीय ने जांच के आदेश दे दिए हैं। मालवीय ने बताया कि वायरल वीडियो को देखकर लग रहा है कि इसे ऑपरेशन थिएटर में शूट किया गया है। महिला से भी पूछताछ जारी है। आपको बता दें कि इस संबंध में अब तक पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है।

प्रादेशिक

एनकाउंटर के डर उज्जैन पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा विकास दुबे, बोला-मुझे यहीं जेल में डाल दो

Published

on

लखनऊ। यूपी के कानपुर के आठ पुलिस वालों के हत्यारे विकास दुबे को यूपी एसटीएफ ने उसके अंजाम तक पहुंचा दिया है। अब विकास दुबे के मारे जाने के बाद इस केस को लेकर रोज़ नए खुलासे हो रहे हैं। बता दें कि उज्जैन में महाकाल के दर्शन करते समय पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था, इसके बाद जब उज्जैन पुलिस उसे यूपी एसटीएफ के हवाले करने जा रही थी तो वह बार-बार उनके सामने गिड़गिड़ा रहा था। विकास कह रहा था कि वह उसे यूपी एसटीएफ के हवाले न करें। उसे यही जेल में डाल दिया जाए। विकास को डर था कि जिस तरह एक-एक कर उसके साथियों का एनकाउंटर हो रहा है कहीं यूपी पुलिस उसका भी एनकाउंटर न कर दे।

विकास को छोड़ने जा रही टीम में शामिल एक जवान ने स्थानीय अखबार से बात करते हुए कहा है कि विकास लगातार डरा हुआ था। उसे पता था कि यूपी पुलिस के हाथ लगा तो उसके साथ कुछ गलत हो सकता है। विकास को यूपी पुलिस के हवाले करने 16 जवानों की टीम गई थी। वह लगातार पुलिस की टीम से कहा रहा था कि मुझे उज्जैन जेल में ही डाल दो। एक जवान ने बताया कि वह उज्जैन में ही रखे जाने को लेकर रास्ते भर गिड़गिड़ा रहा था।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पूछताछ के दौरान विकास दुबे पुलिस के सामने कई बार रोया था। उसने उज्जैन में अधिकारियों से भी गुहार लगाई थी कि मुझे कोर्ट में पेशी को बाद उज्जैन जेल में ही भिजवा दो, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और वो अपने अंजाम तक पहुंच गया।

#VIKASDUBEY #UJJAINPOLICE #UPSTF

Continue Reading

Trending