Connect with us

प्रादेशिक

भाजपा के बड़े नेता की रहस्यमय परिस्थिति में मौत, मचा हड़कंप

Published

on

आगरा में शुक्रवार को भाजपा कोषाध्यक्ष राजेश अग्रवाल की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। उनके परिवार का कहना है बीमारी के कारण मौत हई है लेकिन कुछ लोगों आशंका जता रहे हैं कि कैंसर से पीड़ित होने की वजह से उन्होंने आत्महत्या की है।
राजेश की मौत की खबर सुनते ही भाजपा कार्यकर्ताओं में  शोक में डूब गए। परिजनों का कहना है कि राजेश कई दिनों से बीमार चल रहे थे। उनकी मौत की खबर की मिलते ही बीजेपी के तमाम नेता उनके आवास पर पहुंचने लगे।
आपको बता दें कि थाना लोहामंडी क्षेत्र के जगन्नाथपुरम में राजेश अग्रवाल का घर है।  वह पहले बसपा में थे। इसके बाद भाजपा में शामिल हुए। राजेश आगरा की उत्तर विधानसभा सीट से दो बार चुनाव लड़ चुके हैं।

प्रादेशिक

आलू की खेती करने वाले किसानों के लिए खुशखबरी, जल्द बनने वाले हैं सभी करोड़पति!

Published

on

नई दिल्ली। गुजरात में विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान राहुल गांधी का एक बयान सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था। जिसमें राहुल गांधी ने आलू के किसानों को कहा कि ऐसी मशीन लगाऊंगा कि इस साइड से आलू घुसेगा, उस साइड से सोना निकलेगा। इस साइड से आलू डालो, उस साइड से सोना निकालो।

इतना पैसा बनेगा कि आपको पता नहीं होगा क़ि इतने पैसो का करना क्या है। आलू से सोना बनाने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का इस बयान की वजह से सोशल मीडिया पर खूब मजाक उड़ाया गया था। इतिहास ने  एक बार फिर से खुद को दोहराया है। एक बार फिर उन्हीं की पार्टी कांग्रेस के एक दिग्गज नेता आलू से सोना बनाने की होड़ मे निकल पड़े हैं।

आपको बता दे क़ि मंगलवार को मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल मे मुख्यमंत्री कमलनाथ और उद्योगपतियों के बीच राउंड टेबल मीटिंग हुई जिसमें ये बात निकल कर सामने आई कि आलू के बिजनेस से लोग अरबपति बन जाएंगे। इस सुझाव को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी मंजूरी भी दे दी है।

आशा ग्रुप ऑफ कंपनीज के एमडी दीपक दरयानी ने मुख्यमंत्री को सुझाव दिया कि मध्य प्रदेश का किसान आलू के उत्पादन से अरबपति बन सकता है। इसके बारे में दरयानी ने विस्तृत रूप से मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा की।

दरयानी ने बताया कि पहले पाउडर बनाकर आलू को ढाई साल तक रखा जा सकता है फिर इससे चिप्स के साथ-साथ कई तरह की चीज़ें बनायी जा सकती है और साथ ही आलू एक्सपोर्ट भी किया जा सकता है।

8वीं से 12वीं तक के बच्चों को साल में चार बार हमारे संस्थान मे  विजिट कराया जा सकता है। दरयानी का ये प्रस्ताव मुख्यमंत्री कमलनाथ को काफी पसंद आया और वो इसके लिए तैयार भी हो गए है।

 

-मानसी शुक्ला

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending