Connect with us

नेशनल

भव्य कुंभः आलीशान बंगले से भी ज्यादा लग्जरी हैं श्रद्धालुओं के लिए बने टेंट, कीमत वेज थाल जितनी!

Published

on

लखनऊ। 14 जनवरी से कुंभ का महापर्व उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शुरू होने जा रहा है। कुंभ को सफल बनाने के लिए प्रदेश की योगी सरकार कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रही है इस बात को ध्यान में रखते हुए मेले से पहले प्रयागराज को टेंट सिटी में बदल दिया गया है।

कुंभ 2019 को लेकर चल रही इस जबरदस्त तैयारी को देखकर यह कहा जा सकता है कि इस बार पर्यटकों को बिल्कुल अनोखा अनुभव मिलने वाला है। कुंभ मेले में श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था के लिए 50 करोड़ की लागत से टेंट सिटी बनाई गई है जिसमें लोगों को वर्ल्ड क्लास सुविधाएं मिलेंगी।

कुंभ में इस बार विदेशी पर्यटकों को ध्यान में रखकर उनके लिए कई लग्जरी टेंट बनाए गए हैं। इनमें किसी लग्जरी होटल जैसी सुख सुविधाएं मिलेंगी। सभी लग्जरी टेंटो में टॉयलेट, टीवी, वाई-फाई जैसी सारी आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं।

कुंभ मेले की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, 4 टेंट सिटी बसाई गई हैं जिनके नाम कल्प वृक्ष, कुंभ कैनवास, वैदिक टेंट सिटी, इन्द्रप्रस्थम सिटी हैं।

 

टेंट सिटी में 600 रुपए से लेकर 40,000 रुपए तक के टेंट उपलब्ध हैं। टेंट सिटी में डॉरमेटरी के साथ-साथ लग्जीरियस विला भी बनाए गए हैं जिनकी कीमत भी ज्यादा है।

अरैल में इंद्रप्रस्थ द्वारा बनाए जा रहे इस टेंट सिटी में फाइव स्टार होटल की तरह की सुविधाएं मिलेंगी। इन टेंट में एक रात बिताने के लिए आपको मोटी रकम खर्च करनी पड़ेगी।

टेंट सिटी के लग्जरी विला में एक रात बिताने के लिए आपको 32-40 हजार रुपए तक खर्च करने होंगे।

इन टेंट की कीमत ज्यादा है लेकिन सुविधाएं भी कुछ कम नहीं हैं। महाराजा टेंट की थीम पर इन सभी टेंट के कमरों में आरामदायक बेड, बैठने के लिए कुर्सी और सोफा, साफ सुथरा बड़ा बाथरूम और गर्म पानी के लिए बाथरूम में गीजर भी मुहैया कराया जाएगा।

 

 

नेशनल

दो दिवसीय दौरे के बाद भूटान से भारत के लिए रवाना हुए पीएम मोदी

Published

on

नई दिल्ली। भूटान के दो दिवसीय दौरे के बाद रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वापस भारत के लिए रवाना हो गए हैं। प्रधानमंत्री ने अपनी यात्रा के दौरान यहां भूटानी नेताओं के साथ द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक मजबूत करने पर बातचीत की।

दिल्ली वापस रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूटान की रॉयल यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों को संबोधित किया और तीसरे ड्यूक दिवंगत ग्यालपो की स्मृति में निर्मित राष्ट्रीय स्मारक चोर्टेन पर श्रद्धांजलि अर्पित की। पारो अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से प्रधानमंत्री मोदी एक विशेष विमान से दिल्ली रवाना हुए।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending