Connect with us

प्रादेशिक

विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले आई बड़ी खबर, जानकर मंत्रियों को भी नहीं होगा यकीन!

Published

on

नई दिल्ली। 11 दिसंबर को पांच राज्यों के चुनाव परिणाम आने से पहले चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लिया है। काउंटिंग के समय मतगणना केंद्रों में केंद्र और राज्य सरकार के मंत्री अब नहीं जा सकेंगे। मंत्री सिर्फ उस मतगणना केंद्र में प्रवेश कर सकेंगे जिस क्षेत्र से वे विधानसभा चुनाव के उम्मीदवार हैं।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) कार्यालय से दी गई जानकारी के अनुसार, निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार राज्य एवं केंद्र शासन के मंत्रियों अथवा राज्य मंत्रियों को मतगणना केंद्रों में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। मंत्री केवल उस मतगणना केंद्र में प्रवेश पा सकेंगे जहां से वे स्वयं उम्मीदवार हों।

सीईओ कार्यालय के अनुसार, मंत्री के उम्मीदवार होने के बावजूद उनके साथ सुरक्षा के लिए तैनात सशस्त्र जवानों को मतगणना केंद्र के भीतर प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। निर्वाचन आयोग ने अपने निर्देशों में यह भी कहा है कि केंद्र एवं राज्य शासन के मंत्री अथवा राज्य मंत्री के साथ सशस्त्र सुरक्षा जवान होते हैं इसलिए उनको किसी उम्मीदवार का चुनाव अभिकर्ता (एजेंट) या गणना अभिकर्ता (एजेंट) भी नियुक्त नहीं किया जा सकेगा।

ज्ञात हो कि राज्य में 28 नवंबर को मतदान हुआ है और मतगणना 11 दिसंबर को होने वाली है। मतगणना से पहले ईवीएम के देर से पहुंचने और कुछ स्थानों पर बिजली गुल होने की शिकायतों ने चुनाव आयोग के सामने सवाल खड़े कर दिए हैं।

प्रादेशिक

बीजेपी की हार के बाद लखनऊ में दिखे सीएम योगी के ऐसे होर्डिंग, मच गया पूरे देश में हड़कंप

Published

on

लखनऊ। पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिली करारी शिकस्त के बाद सोशल मीडिया पर बीजेपी और पीएम मोदी पर लोगों ने तीखे हमले शुरू कर दिए हैं।

जहां कुछ लोगों का मानना है कि बीजेपी की हार का मुख्य कारण एससी/एसटी एक्ट है वहीं कुछ लोग इन नतीजों के लिए जीएसटी, किसान कर्जमाफी और नोटबंदी को जिम्मेदार मान रहे हैं।

इन नतीजों के अगले दिन उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएम योगी का एक ऐसा होर्डिंग दिखा से पूरी पार्टी में हड़कंप मच गया। बुधवार की सुबह राजधानी लखनऊ में ‘मोदी हटाओ, योगी लाओ’ के होर्डिंग लगे हुए नज़र आए।

होर्डिंग्स में मोदी को जुमलेबाज बताया गया है। आपको बता दें कि ये पोस्टर उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने शहर में कुछ जगहों पर लगवाए हैं। उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने ‘योगी नहीं तो वोट नहीं’ के नारे के साथ धर्म संसद का ऐलान किया है।

संगठन का दावा है कि दस फरवरी को आयोजित होने वाली इस धर्मसंसद में देशभर से करीब पांच लाख लोग लखनऊ पहुंचेंगे। हालांकि, इन होर्डिंग्‍स के बारे में जैसे ही प्रशासन को जानकारी हुई हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्‍हें हटवा दिया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending