Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

मोदी ने काले धन के मुद्दे को मजबूती से उठाया

Published

on

ब्रिस्बेन| भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन में रविवार को सदस्य राष्ट्रों से काले धन की चुनौतियां सहित आतंकवाद, मादक पदार्थो एवं हथियारों की तस्करी को खत्म करने के लिए साथ मिलकर काम करने का आग्रह करते हुए काले धन को वापस लाने के संबंध में एक मजबूत आधार तैयार किया। मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन में ‘वैश्विक स्तर पर लचीली अर्थव्यवस्था के निर्माण’ विषय पर आयोजित सत्र में सूचनाओं के आदान-प्रदान की स्वत: प्रक्रिया का समर्थन किया और कहा कि यह काले धन के संबंध में सूचना दिलाने और इसे स्वदेश लाने में मददगार साबित होगा।
modi in g-20 02
जी-20 सम्मेलन के दूसरे एवं आखिरी दिन कर बचाव के मुद्दे पर मोदी ने बड़ी अर्थव्यवस्थाओं से मिलजुल कर नीति तैयार करने का आग्रह किया और कहा कि यह न सिर्फ काले धन की चुनौती के लिए बल्कि सुरक्षा से संबंधित मुद्दों, मादक पदार्थो एवं हथियारों की तस्करी रोकने के लिए भी बेहद आवश्यक है। आधिकारिक बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा, “हालांकि सभी देशों की अपनी घरेलू प्राथमिकताएं हैं, सहयोग का फैसला दीर्घ अवधि के लिए हमारी मदद करेगा। वैश्विक वित्तीय प्रणाली का लचीला रुख साइबर सुरक्षा पर भी निर्भर करेगा।”

बयान के मुताबिक, उन्होंने स्वत: सूचना के आदान प्रदान के वैश्विक मानक का समर्थन किया, जो कि विदेशों में छुपाए गए काले धन के संबंध में सूचना इक्कट्ठी करने में मददगार साबित होगा और अंतत: स्वदेश वापस लाने में राष्ट्रों को सक्षम बनाएगा। उन्होंने कहा कि वह कर नीति एवं प्रशासन में सूचना एवं आपसी सहयोग के लिए हर प्रकार की पहल का समर्थन करते हैं। माना जा रहा है कि जी-20 देशों की सरकारें इस्लामिक स्टेट सहित अन्य आतंकवादी संगठनों को अवैध रूप से धन मुहैया कराने वाले व्यक्ति और कंपनी की पहचान का खुलासा करने के लिए उच्च मानक पेश करने वाली योजना का समर्थन करेंगी, जिससे इन आतंकवादी संगठनों पर रोक लगाई जा सकेगी।

अन्तर्राष्ट्रीय

मगर हिल, गुरुंग हिल, रेकिन ला, रेजांग ला और मुखपारी अब भारत के कब्ज़े में

Published

on

By

#India #china #lac #indianarmy #ladakh  #gurunghill
Continue Reading

Trending