Connect with us

उत्तराखंड

अल्मोड़ा: महिला ने फंदे से लटक कर लगाई फांसी, ससुराल वालों की प्रताड़ना से थी परेशान!

Published

on

अल्मोड़ा में एक बहुत ही दुखद घटना सामने आई हैं, जहां एक 26 वर्षीय महिला की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। जानकारी के अनुसार महिला ने घर में फांसी लगा कर आपनी जान दी है। वह पिछले कुछ समय से अपने ससुराल वालों की प्रताड़ना के चलते डिप्रेशन में थी।

बीते शनिवार को नगर के खत्याड़ी मोहल्ला निवासी तनुजा देवी (26 वर्ष) पत्नी सुमित फल्र्याल ने अपने ही घर में फांसी का फंदा बनाकर लोहे के एंगल (पर्दा टांगने वाला रोड़) के लटक कर जान दे दी। बता दें कि तनुजा का मायका द्वाराहाट के बग्वाली पोखर में है।

मृतका तनुजा देवी के पिता आनंद सिंह बिष्ट से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि उनकी बेटी जिस लोहे के एंगल पर लटकी थी उस पर फांसी लगाना असंभव है। ऐसे में उनकी बेटी को मारा गया है।

मृतका के घरवालों ने ये जानकारी दी है कि उनकी बेटी को उसका पति हर दिन प्रताड़ित करता था। आए दिन वो उसके पहनावे व घर के काम करने के ढ़ंग पर उलटे सीधे शब्द कहता था, जिससे तनुजा पिछले 5-6 महीनों से परेशान थी।

तुनजा का विवाह 22 मई 2011 को खत्याड़ी निवासी सुमित फत्र्याल से हुआ था। अभी कुछ दिनों पहले 15 नवंबर को उसने एक बच्चे को जन्म भी दिया था, जिसका नामकरण भी आज होना था। बता दें कि मृतका का पति सुमित अल्मोड़ा डाकघर में पोस्टमास्टर के पद पर कार्यरत हैं। मृतका के दो बच्चे हैं।

तनुजा के परिवार वालों ने ये कहा है कि हमारे कई बार फोन करने पर बेटी के ससुराल वाले बात करने में तरह-तरह के बहाने कर रहे थे और फिर अचानक उन्होंने फोन पर बताया कि शमशान घाट आ जाओ। उनकी बातों को सुन कर हम लोगों ने पुलिस को फोन किया और बॉडी को रुकवाने को कहा।

इस मामले को लेकर पुलिस के उप निरीक्षक नीरज सिंह भाकुनी ने बताया कि मृतका के पिता की शिकायत के बाद पूरे मामले की जांच की जा रही है। फिलहाल पुलिस शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है।

 

आध्यात्म

राम मंदिर कार्यक्रम में शामिल होंगे उत्तराखंड के सतपाल महाराज

Published

on

By

देश के प्रमुख संत-महात्माओं सहित 5 अगस्त को राष्ट्रसंत सतपाल महाराज भी राम मंदिर कार्यक्रम में शामिल होंगे।

राष्ट्रसंत सतपाल महाराज ने कहा है कि भगवान राम हमारे सैनिकों और कोरोनावरियर्स को सशक्त बनाये ताकि वह आंतरिक और बाह्य रूप से देश की रक्षा कर सकें।

राम मंदिर का नया नक्शा देखकर, बोल उठेंगे ‘जय श्री राम’

श्री राम मंदिर निर्माण भूमि पूजन समारोह मुहूर्त की चर्चा को लेकर सतपाल महाराज ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि “मंगल भवन अमंगल हारी” सारे अमंगलों को दूर करने वाले प्रभु श्रीराम हैं। अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण हेतु जिस मुहूर्त में भूमि पूजन के समय का निर्धारण किया गया है वह अभिजीत मुहूर्त है। भगवान श्रीराम का जन्म भी अभिजीत मुहूर्त में हुआ था इसलिए यह समय शुभ फलदायक “सर्वार्थ सिद्धि योग” का समय है। मान्यता है कि इस मुहूर्त में किए जाने वाले सभी शुभ कार्य सफल होते हैं। इसीलिए श्री राम मंदिर निर्माण हेतु होने वाले भूमि पूजन का समय अभिजीत मुहूर्त में निर्धारित किया गया है। सतपाल महाराज ने कहा कि वह प्रार्थना करते हैं कि हमारा देश विश्व गुरु बने और अनंतकाल के लिए हमारे देश की गौरव गाथा गाई जाती रहे।

#Rammandir #Ayodhya #pmmodi #lordrama

Continue Reading

Trending