Connect with us

IANS News

कोहली ने देश छोड़ने वाले बयान पर सफाई दी

Published

on

 नई दिल्ली, 8 नवंबर (आईएएनएस) देश छोड़ने वाले बयान को लेकर प्रशंसकों के निशाने पर आने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अब मुद्ये को शांत करने का प्रयास करते हुए कहा है कि सभी को अपने पसंद की आजादी है।

 कोहली सोशल मीडिया पर उस समय प्रशंसकों के निशाने पर आ गए थे जब उन्होंने एक फैन से कहा था कि यदि वे भारतीय क्रिकेटरों को खेलते देखना पसंद नहीं करते हैं तो उन्हें देश छोड़ देना चाहिए।

लेकिन अब विवाद को बढ़ता देख उन्होंने इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए इस पर सफाई दी है।

कोहली ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, “मुझे लगता है कि ट्रोलिंग करना मेरे लिए नहीं है दोस्तों, मैं खुद ट्रोल होने से ही संतुष्ट हूं। मैंने सिर्फ ये बताने की कोशिश की थी कि कैसे ‘इन भारतीयों’ को उस कमेंट में लिखा गया था और कुछ नहीं। मैं भी पसंद की आजादी के पक्ष में हूं। दोस्तों त्योहार का आनंद लो और शांत रहें। सबको प्यार।”

कोहली ने सोमवार को अपने 30वें जन्मदिन पर ‘विराट कोहली ऑफिसियल ऐप’ लांच किया था। इस दौरान एक फैन ने उनसे बातचीत में भारतीय टीम के बजाय इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया टीम को महत्व दिया था।

फैन ने लिखा, “वह (विराट) एक क्षमता से बढ़ाकर आंका गया बल्लेबाज (ओवर रेटेड बैट्समैन) हैं। मुझे उनकी बल्लेबाजी में कुछ भी खास नहीं दिखता। मैं इन भारतीयों की तुलना में इंग्लैंड और आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को देखना पसंद करता हूं।”

कोहली ने कहा था कि वह आलोचनाओं से निजी तौर पर प्रभावित नहीं होते हैं। लेकिन भारत में रहते हुए यदि कोई भारतीय खिलाड़ियों को पसंद नहीं करता है तो उन्हें देश में नहीं रहना चाहिए।

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगा कि तुम्हें भारत में रहना चाहिए। जाइए और कहीं जाकर रहिए। आप क्यों इस देश में रह रहे हैं और दूसरे देशों को पसंद कर रहे हैं? मुझे इस पर कोई ऐतराज नहीं है कि तुम्हें मेरा खेल पसंद नहीं है लेकिन मुझे नहीं लगता कि तुम्हें इस देश में रहकर दूसरी चीजों को पसंद करना चाहिए। अपनी प्राथमिकताओं को सही करिए।”

कोहली वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज में सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ते हुए सबसे तेजी से 10 हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज बने थे।

Continue Reading

IANS News

फेसबुक ने रूसी सरकार से जुड़े 3 पेज डिलीट किए

Published

on

 सैन फ्रांसिस्को, 17 फरवरी (आईएएनएस)| प्रौद्योगिकी कंपनी फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर वायरल वीडियो कंपनी मैफिक मीडिया द्वारा चलाए जा रहे तीन वीडियो केंद्रित पेजों को डिलीट कर दिया है, क्योंकि इन पेजों ने रूस के साथ अपने संबंधों का उचित रूप से खुलासा नहीं किया।

  रूसी सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त राजकीय आरटी (औपचारिक रूप से रसिया टुडे) की सहायक कंपनी, रुप्टली के मैफिक मीडिया में 51 फीसदी हिस्सेदारी है।

सीएनएन ने फेसबुक के एक प्रवक्ता के शुक्रवार के बयान के हवाले से कहा, “इन पेजों से जुड़े लोगों को इन पेजों से संबद्ध लोगों के बारे में गुमराह नहीं होना चाहिए। हम लगातार सुधार करेंगे, जिससे लोगों को उन पेजों की अधिक जानकारी मिल सके, जिन्हें वे फॉलो करते हैं।”

फेसबुक ने पेजों के एडमिनों तक पहुंचने के लिए उन पेजों को निरस्त कर दिया। कंपनी एडमिनों से यह खुलासा करने की मांग करना चाहती है कि पेज कहां से चलाए जा रहे हैं। फेसबुक प्लेटफॉर्म पर वापस आने के लिए उनकी मूल कंपनी से उनकी संबद्धता भी जानना चाहता है।

सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, युवाओं से अपील करने वाले इन पेजों को फेसबुक पर करोड़ों लाइक्स मिल चुके हैं, लेकिन इन पेजों ने यह खुलासा नहीं किया कि वे रूसी सरकार द्वारा चलाए जा रहे हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending